विदेशी सरजमीं से विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के राष्ट्र"/>

गुजरात चुनाव से पहले ट्रंप के बयान के मायने

विदेशी सरजमीं से विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ भारतीयों के लिए बड़ी उपलब्धि है।हमने हमेशा से पश्चिम पर खूब भरोसा किया और स्वयं पर विश्वास से अधिक विदेशी जमीं की कही हुई बातों पर विश्वास भी किया है। हालांकि राजनीतिक मामलों को छोड़कर भारतीयों के स्वविश्वास की अपनी अलग ही गाथा है।

जिस अमेरिका में प्रवेश के लिए कभी मोदी प्रतिबंधित हुआ करते थे और विपक्ष इसका खूब मखौल भी उड़ाता रहा। यहाँ तक की भारतीय नेताओं के द्वारा मोदी को अमेरिका का वीजा ना दिए जाने की वकालत भी की गई।आज उसी अमेरिका से देश के प्रधानमंत्री की तारीफ जरूर भारत के किसी भी कोने में प्रभावी सिद्ध होगी। अपने ही देश में नोटबंदी व जीएसटी को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहे पीएम के लिए राहत की बात है।गुजरात चुनाव से पूर्व ट्रंप की तारीफ किसी गेम में ट्रंप कार्ड से कम नहीं है।

गुजरात चुनाव में विपक्ष जहाँ मोदी व जेटली का विरोध कर जनता को अपने पक्ष में करना चाहते हैं। वहीं ऐसी तारीफ भाजपाई खेमे के लिए एक बेहतरीन तर्क है। वो कह सकते हैं कि विश्व बिरादरी में भारत की शाख में बढ़ोतरी हुई है।ट्रंप का यह कहना कि मोदी भारत की जनता को एक साथ एक मंच पर लाने का प्रयास कर रहे हैं। इससे उन लोगों को भी करारा जवाब मिल जाता हैए जो भारत में असहिष्णुता के राग से सत्ता परिवर्तन की राह तलाश रहे थे।
कोई माने ना माने लेकिन भारतीय राजनीति में अमेरिका से आया कोई भी बयान बयार बदलने की कूवत रखता है और ट्रंप का यह बयान वास्तव में दिलदार बयान है। जिसका सीधा फायदा भाजपा और नरेन्द्र मोदी को मिलने वाला है।

About the Reporter



चर्चित खबरें