मुख्यालय में अवैध रूप से अपने भतीजे को फर्जी प्रर्वतन सिपाही बन"/>

आखिर भ्रष्ट अधिकारी पर क्यों नही हो रही कार्यवाही?

मुख्यालय में अवैध रूप से अपने भतीजे को फर्जी प्रर्वतन सिपाही बना वाहन से लूट खशोट करने वाले एआरटीओ प्रवर्तन पर कार्यवाही न होने से जनपद वासियों में नाराजगी बनी हुई है। एआरटीओ प्रर्वतन के सारे सबूत उपलब्ध होने के बाद भी कार्यवाही न होने से सरकार की मंशा पर सवालिया निशान उठने लगे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार के आदेशों को ठेगा दिखा जनपद में अफसरशाही के दम पर ओवर लोडिंग को बढावा दे रहे भ्रष्ट प्रवर्तन एआरटीओ की की करतूतों का पर्दाफाश होने के बाद भी कोई कार्यवाही न होने से सरकार की मंशा पर सवालिया निशान उठने लगे है। एआरटीओ द्वारा बडै पैमाने पर ओवरलोड वाहनों को मासिक इन्ट्री कर निकलवाने वाले महोबा के भ्रष्ट एआरटीओ प्रवर्तन अजय यादव ने जनपद में खुलेआम लूट मचा रखी हैं। हद तो यह है कि साहब ने अपनी करतूतों को छुपाने के लिये पूर्वाचल के माफिरूा अपने भतीजे राकेश यादव को फर्जी प्रर्वतन सिपाही बना वाहनों से लूट करने की जिम्मेदारी सौप रखी है।

जो एआरटीओ के साथ गाडी में रहकर वाहनों से जमकर लूट खसोट मचाये हुये है। जिसकी रिपोर्ट आला अधिकारियों व शासन प्रशासन को भी भेजी जा चुकी है। फिर भी भ्रष्ट एआरटीओ प्रवर्तन के खिलाफ कोई भी कार्यवाही न होने से जिले के जिम्मेदार अधिकारी व सत्ता पक्ष के नेताओ पर भी सवालिया निशान उठने लगे है।

जबकि योगी सरकार ने भ्रष्ट अधिकारियों व नेताओं के खिलाफ अभियान चला रखा है फिर भी इस भ्रष्ट अधिकारी के पास आखिर ऐसा क्या है कि इस पर न तो सपा सरकार में सबूत मिलने के बाद भी कार्यवाही नही हुई और न ही भाजपा सरकार में इस भ्रष्ट अधिकारी पर कोई कार्यवाही की जा रही है। इस बात को लेकर पूरे जिले में चर्चाओं का बाजार गर्म बना हुआ है।



चर्चित खबरें