सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद से पुलिस की वर्किंग मे"/>

6 महीने में 10 मुठभेडों से डकैतों के हौसले पस्त

सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद से पुलिस की वर्किंग में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। मौजूदा समय मे पूरे प्रदेश में अपराधियों के हौसले पूरी तरीके से पस्त हैं। धर्मनगरी चित्रकूट में भी पिछले 6 महीने में पुलिस की कार्यशैली में काफी प्रभावपूर्ण बदलाव देखने को मिला है। डकैतों का गढ़ कहे जाने वाले इस जिले में फ़िलहाल पुलिस की कड़ी कार्यवाही के आगे डकैतों ने घुटने टेक दिये हैं । जिले में जब से पुलिस कप्तान प्रताप गोपेन्द्र ने नेतृत्व सम्भाला है तब से अपराधियों में खलबली मची हुई है।

इन दिनों जिले में बदमाशों/डकैतों/अपराधियों की आफत आई हुई है । इक्का दुक्का वारदातों को छोड़ दिया जाए तो डकैत अपनी जान बचाकर इधर उधर भाग रहे हैं। डकैतों के खिलाफ कार्यवाही का अंदाजा उन आंकड़ो से लगाया जा सकता जो ये बताने के लिए पर्याप्त हैं कि हालिया महीनों में पुलिस ने अपराधियों पर किस तरह अंकुश लगाया है। हालत ये है कि पिछले 6 महीने में चित्रकूट पुलिस और डकैतों के बीच 10 मुठभेड़ें हुई हैं जिसने गैंगों की कमर तोड़ दी । पिछले 6 महीने में चित्रकूट पुलिस ने कुल 21 डकैत पकड़े हैं जिसमें से 18 इनामी हैं। पुलिस की कार्यवाही में एक डकैत (शारदा कोल) को एकाउंटर में मार गिराया गया और 1 लाख 5 हजार के इनामी डकैत दस्यु गोप्पा को भी पकड़ा गया। पुलिस की कार्यवाही में इस समयावधि में 5 डकैत घायल भी हुए।

पिछले 6 माह में पुलिस की कार्यवाही में सिर्फ डकैत ही पकड़े नही गए बल्कि उनकी शक्ति को कमजोर भी किया गया यानी बड़ी संख्या में हथियार और कारतूस पकड़े गए। बीते 6 माह में चित्रकूट पुलिस की डकैतों के खिलाफ की गई कार्यवाही में 315 बोर की चार राइफल, 303 बोर 3 राइफल (लूटी गईं), 30 स्प्रिंग एक, 16 हथियार, डीपीबीएल/एसपीबीएल(5), तमंचा (2), कारतूस (150) सहित बड़ी संख्या में बरामदगी हुई।

चित्रकूट जिला एसपी प्रताप गोपेन्द्र यादव ने इलाके में बढ़ रहे अपराध और अपराधियों पर बीते माह में बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने जिले में आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाले कई अपराधियों को मुठभेड़ में ढेर किया है और कई अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। पुलिस द्वारा जिले मे अपराधियों पर रोकथाम करते हुए कई बड़े खुलासे किये गये हैं। चित्रकूट पुलिस की कार्यवाही ने अपराधिओं को जिले से भागने पर मजबूर कर दिया है । डकैतों और अपराधियों पर अंकुश लगाने को लेकर चल रही पुलिस की कार्यवाही अभी भी बदस्तूर जारी है । सीएम योगी आदित्यनाथ के चित्रकूट दौरे से एक दिन पहले चित्रकूट पुलिस ने दिवाली धमाका करते हुए 25 हजार के खूँखार  डकैत रज्जन पटेल को मुठभेड़ में कई बड़े असलहे और कारतूसों के साथ पकड लिया ।

गौरतलब हो कि, कुछ महीने पहले ही चित्रकूट पुलिस और डकैत बबुली कोल गैंग के बीच बड़ी मुठभेड़ हुई थी । इस मुठभेड़ में गैंग लीडर डकैत बबुली कोल और लवलेश को गोली लगी थी । कई डकैत पकड़े गए थे । इसी मुठभेड़ में एसआई जेपी सिंह भी शहीद हुए थे । इस मुठभेड़ ने डकैतों की बुरी तरह से कमर तोड़ दी। इसीलिए डकैत पुनः गैंग को मजबूत बनाना चाहते थे । लेकिन पुलिस ने इस कोशिश को भी नाकाम कर दिया ।

 

About the Reporter

  • अनुज हनुमत

    5 वर्ष , परास्नातक (पत्रकारिता एवं जन संचार)



चर्चित खबरें