सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ अयोध्या के बाद बुन्दे"/>

सत्ता में आने के बाद स्थापित हुआ कानूनराज: सीएम

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ अयोध्या के बाद बुन्देलखण्ड के दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को खोह स्थित पुलिस लाइन में ऋण मोचन का शुभारंभ मंच पर दीप प्रज्जवलित कर किया। इस दौरान सीएम योगी ने मंच से करोडों रुपये की योजनाओं का लोकार्पण व ऋण मोचन कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों व बीपीएल परिवार को विद्युत कनेक्शन के प्रमाण पत्र बांटे।

सोमवार को मुख्यालय से सटे खोह स्थित पुलिस लाइन परिसर में जनता को संबोधित करते हुये सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम बुन्देलखण्ड की धरती को प्यासी नहीं रहने देंगे। इसके लिये जितने रुपयों की जरूरत होगी, सरकार उसकी व्यवस्था करेगी। पूर्ववर्ती सरकारों ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र की हमेशा उपेक्षा की है। यहां की सम्पदा का दोहन हुआ है। बुन्देलखण्ड के अधिकारी व जन प्रतिनिधि हमेशा चर्चा करते हैं कि यहां जल का संकट है। हमारी सरकार सिंचाई की समस्या का समाधान हो, इसको लेकर कार्य कर रही है। कहा कि लोकतंत्र में जनता को बगैर भेदभाव शासकीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने को लगातार प्रदेश का वह भ्रमण कर रहे है। पेयजल, सिंचाई, अन्ना प्रथा की समस्याओं के साथ ही मंदाकिनी नदी की निर्मलता बनी रहे। इसके लिये कार्य योजना बनाकर शीघ्र ही समाधान कराया जायेगा। बुन्देलखण्ड की नई कार्य योजना तैयार कर ली गई है। यहां की धरती प्यासी नहीं रहेगी और यहां का प्रत्येक नागरिक बेरोजगार नहीं रहने पायेगा। यहां पर्यटन की अपार संभावनायें हैं, इसे विकसित करने की कार्य योजना तैयार की है। नौजवानों को रोजगार व नौकरी मिले, जिससे उनके चेहरों पर खुशहाली हो।

सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश को देश का सर्वोत्तम प्रदेश बनाया जायेगा। बुन्देलखण्ड के चित्रकूट को आगरा, झांसी व इलाहाबाद हाईवे से जोडने का कार्य शीघ्र ही शुरू किये जाने के निर्देश दे दिये गये हैं। बुन्देलखण्ड के विकास को जितना भी पैसा लगेगा उसे सरकार हरहाल में पूरा करेगी। यहां का विकास बुन्देलखण्ड की तस्वीर पलट देगी। सीएम योगी ने चित्रकूट को 24 घंटे विद्युत आपूर्ति, फ्री जोन, राष्ट्रीय रामायण मेला का सौन्दर्यीकरण, कामदगिरि परिक्रमा मार्ग का सुन्दरीकरण, रामघाट में उप्र व मप्र जोडने को नदी में पुल निर्माण आदि घोषणाओं की सौगात दी। उन्होंने कहा कि इसके पहले अपराधियों का बोलबाला था। भाजपा के सत्ता में आने के बाद कानून का राज स्थापित हुआ है। चेतावनी दिया कि जो अधिकारी अपराधियों से नहीं निपट पायेगा वह प्रदेश के किसी भी जिले में कार्य न कर अपनी बोरिया बिस्तर बांधने को तैयार रहे। कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में तमाम ऐसे गांव हैं जहां लोगों ने बिजली नहीं देखी। हमने चित्रकूट को करीब पांच हजार मुफ्त विद्युत कनेक्शन देकर लोगों के घरों में उजाला किया है। योजनाओं का सभी को लाभ मिले, इसके लिये युद्ध स्तर पर कार्य चल रहा है। शौचालय निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना आदि कार्यों में अगर कोई भी अधिकारी-कर्मचारी पैसा मांगता है तो वह हमें सूचित करें। उन्हें ऐसी सजा मिलेगी कि उनके परिवार का कोई भी सदस्य नौकरी करने का मन नहीं बनायेगा। उनकी सरकार भ्रष्टाचार, अपराधमुक्त प्रशासन देने को संकल्पित है।

सीएम ने कहा कि स्वच्छता अभियान निरंतर चलता रहे। यह प्रधानमंत्री का लक्ष्य है कि हमारा भारत स्वच्छ और सशक्त बने। इसीलिये उनके सपनों को सभी लोग मिलजुल कर साकार करें। उन्होंने राष्ट्रीय रामायण मेला को प्रांतीयकरण करने की बात कही। यहां आने वाले श्रद्धालुओं का प्रशासन स्वागत करे और उनके ठहरने आदि के लिये रैनबसेरा आदि का निर्माण हो। श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की दिक्कतें नहीं होनी चाहिये। मंदाकिनी पवित्र नदी है। गर्मियों में जल की मात्रा बनी रहे, इसके लिये कार्य योजना बनायी जा रही है। पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि यह भगवान श्रीराम की तपोस्थली है। यहां हजारों ऋषि-मुनियों ने तपस्या की है। यह पवित्र भूमि है। जब से प्रदेश में भाजपा सरकार बनी है, विकास को गति मिली है। प्रदेश में तेजी से विकास के कार्य संचालित हो रहे हैं। यह प्रदेश आध्यात्म और धर्म के लिये विख्यात है। ऐसे स्थलों का विकास करना सरकार का कर्तव्य बनता है। बुन्देलखण्ड में तो धार्मिक स्थलों का इतिहास है। मुख्यमंत्री ने इसे हर तरह से विकसित करने का मन बनाया है। चित्रकूट के आसपास कई धार्मिक स्थान है। इन स्थलों को चिन्हित कर विकास किया जायेगा।

बांदा-चित्रकूट सांसद भैरों प्रसाद मिश्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर इशारा करते हुये कहा कि वह गोरखपुर की तरह चित्रकूट को भी गोद लें। इससे स्वतः विकास की गंगा बहने लगेगी। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में किसानों के अभी 60 प्रतिशत ही कर्ज माफ हुये हैं। शेष किसानों के भी ऋण माफ किये जायें। मानिकपुर विधायक आरके सिंह पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो वादे किये थे वह पूरा कर दिखाया है। उन्होंने अपनी सभी चुनावी घोषणाओं को पूरा करने के साथ ही किसानों की कर्ज माफी की है। कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में अराजकतत्वों का बोलबाला था। भाजपा की सरकार बनते ही काफी हद तक अराजकता खत्म हुई है। इसके बाद प्रभारी मंत्री डा महेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री का आभार जताते हुये कहा कि सौभाग्य की बात है कि मुख्यमंत्री ने चित्रकूट का विकास कराने का बीडा उठाया है। कार्यक्रम का संचालन डा रंजना त्रिपाठी ने किया। इस मौके पर परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, सहकारिता मंत्री मनोहर लाल मन्नू समेत संगठन की प्रदेश मंत्री रंजना उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

मत्था टेक लगायी कामदगिरि की परिक्रमा
सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ सवेरे सात बजे मुख्यालय स्थित डाक बंगले से कामतानाथ मुखारबिन्द पहुंचकर विधिविधान से पूजन अर्चन किया। इसके बाद भगवान कामदगिरि की परिक्रमा की। इस दौरान जगह-जगह साधु-संतो ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री आर्शीवाद लेकर आगे बढ़ते रहे। जयश्री राम के जयकारों से परिक्रमा क्षेत्र गूंज उठा। इस मौके पर जिला पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये।

झाडू लगाकर दिलायी स्वच्छता की शपथ
भगवान कामदगिरि की परिक्रमा के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ मुख्यालय के पटेल तिराहे पर सरदार वल्लभ भाई पटेल प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलायी। इस दौरान उन्होंने झाडू उठाकर पटेल तिराहे से एलआईसी तिराहे तक सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दिया। इस दौरान सैकडों लोगों ने सफाई अभियान में सहभागिता की।

अस्पताल का निरीक्षण कर देखी व्यवस्थायें
जलपान करने के बाद मुख्यमंत्री ने भाजपा कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से भेंट किया। इसके बाद सीधे जिला अस्पताल पहुचकर मरीजों के हाल जानने के बाद निर्देश दिये कि मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध करायी जाये। प्रत्येक आवश्यकताओं की जल्द पूर्ति होगी। हरहाल में मरीजों को राहत देने के लिये डाक्टरों की कमी व उपकरण आडे नहीं आने दिया जायेगा।

पत्रकारों में दिखा रोष
मुख्यमंत्री के जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान पत्रकारों को अंदर जाने नहीं दिया गया। जिससे पत्रकारों में खासा रोष रहा। निरीक्षण के बाद पत्रकारों ने जब बात करने का प्रयास किया तो पुलिस ने किनारे कर दिया। इसके बाद मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक के दौरान भी पत्रकारों को बाहर ही रोक दिया गया।

सीएम का जेआरएचयू मे हुआ सम्मान
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ श्रीतुलसीपीठ कांच मंदिर पहुंचे। यहां कुलाधिपति के निजी सहायक ने उनका स्वागत किया। तत्पश्चात् मंदिर परिसर में विराजमान भगवान श्रीसीताराम के दर्शन, पूजन एवं भव्य आरती जगद्गुरू के कृपापात्र आचार्य चन्द्रदत्त सुबेदी एवं उज्जवल शंाडिल्य ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ सम्पन्न कराया। मुख्यमंत्री ने जगद्गुरू स्वामी रामभद्राचार्य को शाल, श्रीफल एवं माल्यार्पण कर एक संत के रूप में एक संत का सम्मान किया। जगद्गुरू स्वामी रामभद्राचार्य द्वारा स्थापित विश्व के प्रथम विकलांग विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो योगेश चन्द्र दुबे ने मुख्यमंत्री को विश्व विद्यालय का स्मृति चिन्ह व पुष्पगुच्छ प्रदान कर स्वागत किया। इस अवसर पर जनपद के प्रभारी मंत्री महेन्द्र सिंह परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह, मुन्नूलाल कोरी मंत्री, कुलाधिपति की सचिव डाॅ गीता देवी मिश्रा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री कार्यालय अवनीश अवस्थी, मुख्यमंत्री के प्रमुख सुरक्षा अधिकारी आरएस गौतम, सहित श्रीतुलसीपीठ आश्रम के संतगण मौजूद रहे।


प्रदेश में जल्द शुरू होगी ई-आफिस व्यवस्था: मुख्यमंत्री
भू-माफियाओं, पशु तस्करों, खनन माफियाओं, जघन्य अपराधियों तथा तेदूॅं पत्ता में अवैध वसूली करने वाले माफियाओं के खिलाफ गैंगस्टर व गुण्डा एक्ट की कार्यवाही की जाये। उनकी अवैध कमाई से बनायी हुई सम्पत्तियों को जब्त करें।

यह निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में डकैत उन्मूलन में अच्छा कार्य हुआ है, किन्तु जो डकैत बचे हैं उनके उन्मूलन के लिए प्रभावी प्रयास किये जायें तथा महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को प्रभावी रूप से रोका जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि नियमित रूप से पुलिस के अधिकारी पैदल पेट्रोलिंग करें। इससे जनता में विश्वास पैदा होता है। उन्होंने कहा कि अपराधियों में पुलिस का भय होना चाहिए तथा पुलिस की सक्रियता से ही अपराधों में नियंत्रण होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि चित्रकूट सांस्कृतिक दृष्टिकोंण से तथा सुरक्षा की दृष्टिकोंण से बहुत महत्वपूर्ण है। इसके नियोजित विकास के लिए कार्य योजना बनायी जाये। बेड़ी पुलिया से चित्रकूट तक फोर लेन सड़क का निर्माण किया व एलईडी लाइटें लगवायी जायें। इसके साथ ही पार्किंग स्थलों व शौचालयों का निर्माण भी कराया जाये। जिससे बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों को कोई कठिनाई न हो। उन्होंने निर्देश दिये कि चित्रकूट के मेले के प्रान्तीयकरण का प्रस्ताव शासन को भेजा जाये।

मुख्यमंत्री ने 50 लाख से ऊपर की परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि 50 लाख की ऊपर की परियोजनाओं को समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाये। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि अधूरी परियोजनाओं को पूर्ण करने के लिए वांछित धनराशि के प्रस्ताव शासन को भेजे जायें और इन सिंचाई परियोजनाओं को शीघ्र पूर्ण करें। कहा कि अधिकारी विशेष संवेदनशीलता से कार्य करें और जनता की समस्याओं के निस्तारण में व्यक्तिगत रूचि लें। थाना समाधान दिवस व तहसील समाधान दिवसों को सक्रिय रूप से संचालित कर समस्याओं का समयबद्ध ढंग से निस्तारण करें। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि प्रत्येक थाने में संगीन अपराधियों को चिन्हित किया जाये तथा उनके खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करें। निर्देश दिये कि भूमि संबंधी विवादों का प्राथमिकता पर निस्तारण कर भू-माफियाओं के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि दलित, भूमिहीन व गरीबों को न उजाड़ा जाये।

उन्होंने कहा कि फेरी नीति को प्रभावी रूप से लागू किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शीघ्र ही ई-आफिस की व्यवस्था लागू की जायेगी। इसलिए अधिकारी पत्रावलियों का समयबद्ध निस्तारण अभी से सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिये कि विशेष अभियान चलाकर दिव्यांगों के प्रमाण-पत्र जारी किये जायें। मुख्यमंत्री ने चित्रकूट जनपद में चार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के निर्माण के लिए सीएनडीएस संस्था को धनराशि दिये जाने के बावजूद कार्य पूर्ण न होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा उन्होंने आयुक्त को निर्देश दिये कि यदि कार्यदायी संस्था द्वारा धन का गबन किया गया है तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्यवाही की जाये। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि चिकित्सकों की समय से उपस्थिति सुनिश्चित करते हुये चिकित्सक नियमित रूप से मरीजों को देखने का कार्य करें। उन्होंने पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में ओडीएफ का कार्य प्राथमिकता पर किया जाये।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में बने 17 ओवर हैड टैंकों के कार्य न करने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि इनकी जांच कर इन ओवरहैड टैंकों को संचालित किया जाये। जिससे जन सामान्य को योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने निर्देश दिये कि बालू, मोरम तथा गिट्टी के दाम नियंत्रित किये जायें। सांसद बांदा-चित्रकूट भैरों प्रसाद मिश्र ने कहा कि कम वर्षा होने से फसलों को काफी क्षति हुई है तथा रबी फसलों की सिंचाई के लिए भी जलाशयों में पर्याप्त पानी नहीं है। आयुक्त चित्रकूटधाम मण्डल बांदा अजय कुमार शुक्ला ने मण्डल तथा जनपद में संचालित विकास कार्यक्रमों के संबंध में मुख्यमंत्री को जानकारी दी। जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी ने बताया कि वर्तमान में सूखे से 15 से 18 प्रतिशत फसलों की क्षति हुई है, किन्तु क्षति की सही जानकारी क्राप कटिंग से प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने बताया कि वाणिज्य कर के अंतर्गत लक्ष्य से अधिक वसूली हुई है। पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र ने कानून व्यवस्था के संबंध में पुलिस द्वारा की गयी कार्यवाही की जानकारी दी।

बैठक में राज्यमंत्री स्वतंत्र देव सिंह, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डा महेन्द्र सिंह, राज्य मंत्री श्रम एवं सेवायोजन मनोहर लाल ‘मन्नू’, विधायक मानिकपुर आरके सिंह पटेल, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस उपमहानिरीक्षक चित्रकूटधाम मण्डल बांदा ज्ञानेश्वर तिवारी, मुख्य विकास अधिकारी जय प्रकाश पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी वीएन पाण्डेय, उप निदेशक सूचना चित्रकूटधाम मण्डल बांदा भूपेन्द्र सिंह यादव तथा मण्डल व जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

बेहतर शिक्षा से होगा नाम रोशन
मुख्यमंत्री ने विकास खण्ड चित्रकूटधाम कर्वी के ग्राम बनाड़ी का निरीक्षण किया। उन्होंने प्राथमिक विद्यालय, आंगनबाड़ी केन्द्र तथा गांव में बनाये गये प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनाये गये हीरामनी, गुड़िया, मनदेवी के आवासों का निरीक्षण कर धनराशि के बारे में जानकारी की और हीरामनी के आवास पर नारियल फोड़कर शुभारम्भ किया। प्राथमिक विद्यालय में बेसिक शिक्षाधिकारी को निर्देश दिये कि शिक्षण व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाये। शासन की मंशा है कि प्राइवेट विद्यालय से बेहतर सरकारी विद्यालय रहे। बच्चों को बेहतर शिक्षा पाकर जनपद व प्रदेश का नाम रोशन करें।

जनपदवासियों को मिली करोडों की सौगात
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपदवासियों को खुशहाली के लिए मजबूत इरादे जताये। उन्होंने जनपद चित्रकूट में रामायण गैलरी एवं पर्यटन सुविधा केन्द्र के लिए रूपये 1242.63 लाख रूपये, परिक्रमा मार्ग कवर्ड शेड के लिये रूपये 1080 लाख, रामघाट पर लेजर शो रूपये 845.78 लाख, रामघाट एवं मध्य प्रदेश को जोड़ने को फुट ओवर ब्रिज 428.31 लाख रूपये, टैक्सी स्टैण्ड रामघाट में पार्किंग एवं फूड प्लाजा 467 लाख रूपये, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रैपुरा 511.87 लाख रूपये, राष्ट्रीय प्रेक्षागृह किशोर 957.03 लाख रूपये कुल 5432.62 लाख रूपये के कार्यों का शिलान्यास पुलिस लाइन से किया तथा माध्यमिक शिक्षा के तहत माडल स्कूल हर्दीकला मऊ 302.00 लाख, स्वास्थ्य विभाग की 30 शैय्या मैटरनिटी विंग मानिकपुर 277.76 लाख, 30 शैय्या मैटरनिटी विंग शिवरामपुर 290.51 लाख, बुन्देलखण्ड विकास रौली कल्याणपुर के बजनी पुरवा (पाते पुरवा) सम्पर्क मार्ग का कार्य 1.60 किमी लागत 113.62 लाख, चिल्लीराकस का मजरा यादव पुरवा सम्पर्क मार्ग 1.10 किमी लागत 85.17 लाख, बसिला से गुड्डू पुरवा सम्पर्क मार्ग 78.00 लाख, क्षेत्र पंचायत मानिकपुर के अंतर्गत डरी रेलवे फाटक से रेलवे स्टेशन से मानिकपुर तक पक्के सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य एवं 4 नम्बर एक हजार एमएमडाया हयूम पाइप पुलियों सहित लम्बाई 2 किलोमीटर लागत 120.81 लाख, राजापुर बोड़ी पोखरी पक्के मार्ग से ग्राम अमानपुर तक पक्का सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य 2.50 किलोमीटर लागत 195.54 लाख, विकास खण्ड मऊ के ग्राम बियावल से चन्देल पुरवा होते हुए यमुना के डेरा तक पक्के सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य 1.50 किलोमीटर लगात 114.30 लाख एवं विकास खण्ड रामनगर के ग्राम रगौली के ग्राम भदेउरा तक सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य 2.50 किलोमीटर लागत 201.59 लाख आदि परियोजनाओं का सभा स्थल से लोकार्पण किया गया।

इसके साथ जनपद के शासन द्वारा घोषित नीतियों के अंतर्गत कृषकों की पात्रता की जांच के बाद मुख्यमंत्री ने 19628 कृषकों को स्वीकृत प्रमाण पत्र वितरित किये। प्रधानमंत्री आवास योजना के 5740 लाभार्थियों को स्वीकृत प्रमाण पत्र भी बांटे गये। आवास के लिए प्रथम किश्त की धनराशि रूपये 40 हजार बैंक खातों में भी दे दी गई है। पंडित दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना भारत सरकार द्वारा संचालित के तहत सुगम विद्युत संयोजन योजना में बीपीएल परिवारों को निःशुल्क कनेक्शन के स्वीकृत प्रमाण-पत्र बांटे गये।

रामायण मेला के कार्यकारी अध्यक्ष ने सीएम को सौपा पत्र
राष्ट्रीय रामायण मेला के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश करवरिया व करुणाशंकर द्विवेदी ने पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेटकर रामायण मेला के बारे में जानकारी बाबत पत्र सौपा। पत्र में कहा कि रामायण मेला परिसर का निर्माण काफी समय पूर्व हुआ है। जिसकी मरम्मत कराना नितांत आवश्यक है। अंडरग्राउंड बिजली व परिसर की सीलिंग खराब हो गई। इसके अलावा शासन से मिलने वाली सहयोग राशि को बढ़ाया जाये। हथकरघा प्रदर्शनी के अलावा अन्य प्रदर्शनी शासन उपलब्ध कराये। विभिन्न कार्यक्रमों के लिये रामायण मेला बेहतर मंच है। जिससे लोकविधाओं व सांस्कृतिक कार्यक्रम बढाये जाये जो जागरुकता के साथ संस्कृति की रक्षा में सहायक सिद्ध होगी।

 

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .



चर्चित खबरें