पुलिस और खनिज विभाग के संरक्षण में बालू खनन का धंधा फल-फूल रहा है"/>

प्रशासन पर भारी पड़ रहे हैं बालू माफिया

पुलिस और खनिज विभाग के संरक्षण में बालू खनन का धंधा फल-फूल रहा है। अवैध करने वाले लोग दिनरात बालू खनन करके इधर-उधर डम्प करते है और फिर कानपुर, राय बेरली, व लखनऊ आदि शहरों में ट्रको के माध्यम से भेजकर मोटी रकम कमा रहे है।

बेतवा नही में इन दिनों बालू खनन का धंधा तेजी से बढ़ रहा हैं इस काम में खनिज विभाग व डायल 100 पुलिस बराबर सहयोग कर रहे है। यही वजह है कि रिक्शो व ट्रैक्टरों के माध्यम से खुले आम अवैध बालू निकाली जा रही है। दिन-रात गधों से भी बालू निकाला कर बेची जा रही है।

अंधेरा होते ही बडे पैमाने पर नदी की ओर ट्रको का आवागमन शुरू हो जाता है। पूरी रात ट्रको की धना चैकड़ी मची रहती है। यह सब पुलिस की संरक्षण में चल रहा है। अवैध खनन में जेसीबी व पोकलैण्ड मशीनों को इस्तेमाल किया जा रहा है। नदी से बालू ट्रैक्टर से माध्यम से जंगल में लाकर डम्प करती जाती है। बार में डम्प बालू को ट्रको के माध्यम से बाहर भेजा जाता है।

इस मसले में डीएम ने सख्त रवैय्या अपनाया लेकिन बालू माफिया डरने का नाम नही ले रहे है। जिससे स्पष्ट है कि बालू माफिया प्रशासन अभिशापित पर भारी पड़ रहे है।



चर्चित खबरें