बुन्देलखण्ड में साल-दर-साल सूखे के का जल स्तर गिरता जा रहा है। गि"/>

जल संग्रह को बडे तालाब बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा

बुन्देलखण्ड में साल-दर-साल सूखे के का जल स्तर गिरता जा रहा है। गिरते जल स्तर से निपटने और किसानों को राहत देने के उद्देश्य से सरकार ने कई बार तालाबों की जीणोद्धार करके जल संचयन की योजना तैयार की है। जल स्तर कितना बढ़ रह है नतीजा सामने है। अब बडे़ तालाब बनाने की योजना सरकार को प्रशासन ने भेजी है।

अपना तालाब अभियान के संयोजक पुष्पेन्द्र भाई गत दिनों आयुक्त को पत्र देकर खेत तालाब योजना के तहत बनावये जा रहे तालाबों को आकार बड़ा करवाने की मांग की थी ताकि बारिश के पानी को संचय किया जा सके। पुष्पेन्द्र भाई के इस प्रस्ताव को उप कृषि निदेशक भूमि संरक्षण ए.के. सिंह ने अपर कृषि निदेशक भूमि संरक्षण लखनऊ को भेज दिया है।

प्रस्ताव मे बुन्देलखण्ड सहित चित्रकूट मण्डल में 2 से 5 हे. तक के किसानों को भी सिचांई के लिए खेत तालाब निर्माण का प्रस्ताव करने को कहा गया है जिसमें जोत के आधार पर किसानों के यहां खेत तालाब का प्रस्ताव करने को कहा गया है। इसमें दो हे. भूमि के किसानों के लिए 6300 घनमीटर तीन हे. के किसानों के लिए 9450 घनमी. चार हे. के किसानों के किसानों के लिए 12600 घन मीटर और पांच हे. कि किसानों के लिए 15750 घन मीटर के तालाब निर्माण का प्रस्ताव भेजा गया है।

प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि खेत तालाब योजना के सभी तालाब में उत्खनन होने वाला मिट्टी का 1/2 भाग अलग-अलग मेड़ो पर डाल दी जाये ताकि खेत का पानी खेत में और तालाब के किनारे टीले रूप धारण का पुनः तालाब मे जाने से बचाया जा सके।



चर्चित खबरें