जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने शहनाई गेस्ट हाउस मे आयोज"/>

31 दिसम्बर तक खुले मे शोैच मुक्त कराना हम सब का दायित्व: डीएम

जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने शहनाई गेस्ट हाउस मे आयोजित स्वच्छ ग्रहणी कार्यकर्ताओ के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान कहा कि जनपद केा 31 दिसम्बर तक खुले मे शौच मुक्त कराना हम सब का दायित्व है। उन्होने कहा कि अपने देश मे स्वच्छता कार्यक्रम वर्ष 1980 से चलाया जा रहा है। डीएम ने कहा कि शासन ने महिलाओ के सम्मान  करने के लिये कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि जिस देश मे महिलाये पीछे होगी तो निश्चित है कि वह देश अन्य देशो से काफी पिछड जायेगा।

महिलाये समाज व राष्ट्र के विकास मे सहयोग देती है। सभी कार्यकर्ती अपनी जिम्मेदारी व दायित्वो का सही ढंग से निर्वाहन करके ग्रामो मे जाकर ग्रामवासियो मे जागरूकता पैदा करे। खुले मे शौच जाने से ज्यादातर बच्चे डायरिया से पीडित हो जाते है।

हम सभी केा स्वछता के प्रति जागरूकता पैदा करने के साथ-साथ स्वच्छता सत्ताग्रह आन्देालन का रूप  लेकर कार्य करे।  जनपद को पूर्ण रूप से 31 दिसम्बर तक शौच से मुक्त करने के लिये सत्ताग्रह आन्दोलन के रूप मे कार्य करे। डीएम आरपी पाण्डेय ने बताया कि देश मे पैदा होने वाले बच्चो मे से 40 प्रतिशत बच्चेा का स्वच्छता के कारण उनका भोैतिक, मानसिक, शारीरिक विकास नही हो पाता है। डीएम ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण, पुष्प व दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। 

इस कार्यक्रम मे समवन्यक मुसीर खां ने बताया कि ग्रामो मे 130 स्वच्छ ग्रहणी कार्यकर्ताओ को दायित्व सौपा गया है कि खुले मे शौच मुक्त करने का उन्ही केा आज प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस अवसर पर डीपीआरओ परवेज आलम, ट्रेनर विनोद शर्मा, स्वच्छ ग्रहणी कार्यकर्ता आदि उपस्थित रहे।



चर्चित खबरें