शासन के निर्द"/>

कलेक्टर पहुंची अहिरगवां, सघन मिशन इन्द्रधनुष सर्वे सूची का किया सत्यापन

शासन के निर्देशानुसार जिले में सघन मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम चलाया जा रहा है। यह अभियान माह अक्टूबर 2017 से माह जनवरी 2018 तक चार चरणों में आयोजित किया जाना है। अभियान के सफल संचालन के लिए संपूर्ण टीकाकरण हेतु ग्राम स्तर पर घर-घर सभी गर्भवती माताओं एवं 0-5 वर्ष के बच्चों का सर्वे, ग्राम की आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा कराया गया था। इस सर्वे कार्य के सत्यापन तथा अभियान की तैयारी का जायजा लेने कलेक्टर जे.पी.आईरीन सिंथिया ग्राम अहिरगवां पहुंची। वहां उन्होेंने घर-घर जाकर स्वयं सर्वे सूची का सत्यापन किया।

उनके द्वारा ग्राम में गर्भवती माताओं एवं बच्चों के अभिभावकों से व्यक्तिगत संवाद करते हुए टीकाकरण करवाने तथा मातृ शिशु सुरक्षा टीकाकरण कार्ड को संभालकर रखने की समझाईश भी दी गई। ज्ञात होवे कि सघन मिशन इन्द्रधनुष के अंतर्गत जिस ग्राम मे टीकाकरण से अधिक छूटे हुये बच्चे प्राप्त होगें उस ग्राम मे सघन मिशन इन्द्रधनुष के विशेष टीकाकरण सत्रों का आयोजन दिनांक 09.10.2017 से निरंतर 7 दिवस तक किया जायेगा तथा सघन मिशन इन्द्रधनुष का आगामी 4 माह तक प्रत्येक माह में 7 दिवस तक टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जावेगा। अभियान की वास्तविक सफलता में सर्वे ही महत्ता को देखते हुए पिछले दिनों कलेक्टर द्वारा विभिन्न विभागों जिनमें राजस्व, पंचायत, महिला एवं बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग आदि के 83 अधिकारियों/कर्मचारियों को नोडल नियुक्त कर सत्यापन के कार्य हेतु दायित्व सौपा गया हैै। इसी क्रम में कलेक्टर ने स्वयं ग्राम अहिरगवां की आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एएनएम, पंचायत सचिव के द्वारा किये सर्वे की समीक्षा की। 

कलेक्टर द्वारा समीक्षा में पाया गया कि ग्राम अहिरगवां में जनसंख्या 2754 में 13 प्रतिशत बच्चे जिनमे 0-2 वर्ष के 143 तथा 2-5 वर्ष के लक्षित बच्चे 215 तथा 34 गर्भवती माता होनी चाहिये। परन्तु ग्राम आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी के रिकाॅर्ड का सत्यापन करने पर  0-2 वर्ष के बच्चे 79 तथा 2-5 वर्ष तक 142 बच्चे तथा गर्भवती माता 27 पाई गई, जो लक्षित बच्चों व गर्भवती माताओं के विरूद्ध कम है। अब तक सूची में 64 0-2 वर्ष के, 73 2-5 वर्ष के बच्चे एवं 7 गर्भवती माताओं को सूचीबद्ध किया जाना शेष पाया गया। इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर ने ग्राम की आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं पंचायत सचिव को पुनः दो दिवस के अंदर सर्वे कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये।

भ्रमण के दौरान कलेक्टर ने ग्रामवासियों की अन्य समस्याएं भी सुनी। इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पन्ना डाॅ. एल.के.तिवारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक एनएचएम पन्ना श्रीमती ज्योति मण्डलोई, सेक्टर सुपरवाईजर महिला बाल विकास उपस्थित रहे।



चर्चित खबरें