< अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर झाँसी के लिये लड़ेगा संजय Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर झाँसी के लिये लड़ेगा संजय

 मन में यदि कुछ कर गुजरने की तमन्ना है तो आपकों मंजिल पर पाने से कोई नही रोक सकता है। झाँसी के एक युवा ने ऐसा ही कुछ कर दिखाया है, यदि सब कुछ ठीक - ठाक रहा तो झाँसी का नाम एक फिर दुनिया में चमक उठेगा। झाँसी का यह नौजवान 13 अक्टुबर को दुनिया भर के बाॅडी बिल्डर्स से भिड़ झाँसी को फिर नयी ऊंचाई देने का काम करेगा। उसका चयन विभिन्न प्रतियोगिताओं में सफल होने के बाद इंडिया टीम में कर लिया गया है।

काफी लम्बे अरसे के बाद झाँसी के लाल संजय श्रीवास का चयन मुम्बई में होने वाले अन्र्तराष्ट्रीय बाॅडी बिल्डिंग मेें प्रतिभाग करने वाली भारत की टीम में हो गया है। वे अपने भार की प्रतियोगिता में दुनिया भर से आने वाले बाॅडी बिल्डर्स से मुकाबला करेंगे। मुम्बई के एक सभागार में हुयी राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सफल होने के बाद नेशनल बाॅडी बिल्डर्स एसोशियेशन ने उन्हैं उनके भार में होने वाली अन्र्तराष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिये चयनित कर लिया है। वे 13 अक्टुबर को मुम्बई में होने वाले मिस्टर आॅलंपिया 2017 के लिये दुनिया भर के विभिन्न देशों से आने वाले बाॅडी बिल्डर्स से भिड़कर झाँसी को सम्मान दिलाने के लिये प्रयास करेंगे। इस खबर से उनके मित्रों ,परिवारजनों वे खुशी की लहर व्याप्त हैं। मिस्टर संजय 2014 मंे मिस्टर इंडिया का खिताब भी अपने नाम कर चुके है।

बचपन से ही बड़ा सपना संजोए थे संजय का जीवन 

26 अगस्त 1985 को महानगर की पीएनटी काॅलोनी मे जन्में संजय श्रीवास का बचपन से ही कुछ अलग करने का सपना था। उनका मन पढ़ाई के साथ - साथ कुछ और करने की विचलित रहता था। इसके लिये उन्होंने शरीर सौष्ठव का रास्ता चुना। अपने ठोस इरादों के बलबूते उन्होंने 18 वर्ष की आयु मे ही मिस्टर झाँसी खिताब को पानें में सफलता अर्जित कर ली। इस हेतु उन्होंने लगभग जनपद के आधा सैंकड़ा से अधिक युवाओं को पछाड़ा। संजय को इस उपलब्धि ने एक नयी पहचान देने का काम किया। जिसके बाद उन्होंने न रूकने की ठान ली थी। फिर तो बाॅडी बिल्डिंग में उनके नाम का डंका बजने लगा। मिस्टर उज्जैन, मिस्टर एमपी, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान आदि की प्रतियोगिताओं में अब्बल रहे। इसके बाद तो संजय ने इसे कैरियर ही बना लिया। संजय वर्तमान में झाँसी में ही अपनी जिम का संचालन भी करते है।
 
मेरा सपना पूरा होने का समय
मिस्टर ओलंपिया 2017 के लिये चयनित होने के बाद संजय ने कहा कि उनका प्रयास यह प्रतियोगिता के लिये रहेगा। उन्होंने कहा कि उनका यह सपना था, जिसे वे जीतकर सच करेंगे।  
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें