बेशक ऊर्जा मंत्री दावा करते हैं कि प्रदेश में बिजली व"/>

जेई की मनमानी से गई बिजली

बेशक ऊर्जा मंत्री दावा करते हैं कि प्रदेश में बिजली व्यवस्था अच्छी होगी। लेकिन उनके ही विभागीय अधिकारी व कर्मचारी उनके दावे पर पलीता लगाने पर डटे हुए हैं। चित्रकूट जिले से सटे हुए ब्लाक मुख्यालय पहाड़ी में आए दिन ओसीबी मशीन खराब हो जाती है। लगभग एक महीने पहले मशीन ब्लास्ट हो जाने पर जनसुनवाई एप के माध्यम से शिकायत दर्ज की गई थी। जिसमें पूर्व एक्सईएन गुरूचरण लाल भटनागर द्वारा मशीन बदले जाने का लिखित आश्वासन दिया गया था। गौरतलब है कि तब से अब तक ना तो मशीन बदली गई और ना ही बिजली व्यवस्था सुचारू रूप से शुरू हो पाई है।

पुन: ब्लास्ट हुई मशीन
पूरे 4 दिन से उपकेन्द्र पहाड़ी में तैनात जेई राही 3 या 4 अथवा 6 बजे तक, जब भी सहूलियत होती वे आते हैं और मशीन पर संविदा कर्मी द्वारा काम शुरू करवा देते हैं। सम्पूर्ण कस्बा अंधेरे से घुप्प हो जाता है। लेकिन हर बार मशीन ब्लास्ट हो जाती है। जिससे तैनात जेई शिवप्रसाद राही की नाकामी का पूर्ण एहसास हो जाता है। ऐसा महसूस होता है कि इनको मशीन को सही करने की कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। इन्हे वापस प्रशिक्षण की आवश्यकता इसलिये महसूस होती है। बिजली विभाग के आला अफसर ऐसे असफल जेई को वापस प्रशिक्षण हेतु ले जाएं और जिन्हें तकनीकी विशेषज्ञता हो उन्हें भेजकर मशीन सही कराने का कष्ट करना चाहिए।

पुरानी मशीन को पेंट कर बना रहे नई दूल्हन
लगभग 17 वर्ष पुरानी मशीन लगी हुई है। उपकेन्द्र की स्थापना के समय आई मशीन जिसकी क्षमता भी अब जवाब दे रही है। लेकिन इस संबंध मे जेई राही से जब बात हुई तो उनका कहना है कि हमारी मर्जी पेंट करके सही कराएं या जैसे भी। अब इतना साधारण सा ज्ञान तो सबको है कि आखिर रंग रोगन चढाने से मशीन सही हो जाती तो फिर ऐसे जेई को सरकारी वेतन देने की आवश्यकता क्या है ? ये काम तो कल्लू पेंटर भी कर सकता है और बता सकता है। मशीन का एक एक कलपुर्जा जवाब दे रहा है लेकिन जेई उस पर अज्ञानी स्वभाव के साथ ठेलम ठेल पेलम पेल मचाए हुए हैं। लेकिन एसडीओ राजकुमार और जेई दोनो ने इस बात की कसम खा रखी है कि नई मशीन नहीं लगेगी और जनता प्रतिदिन बिजली की समस्या से जूझ रही है।

बड़े अधिकारी कहते हैं
एसी से लेकर एक्सईएन तक का कहना है कि हम बहुत जल्द ही व्यवस्था सही करा रहे हैं। लेकिन अफसोस है कि एसडीओ और खासतौर से जेई के गैरजिम्मेदाराना व अलोकतांत्रिक व्यवहार की वजह से जनता तो परेशान ही है ऊपर से बिजली विभाग को भी हर बार ब्लास्ट होती मशीन से काफी धन का अपव्यय सहना पड़ रहा है। यह भी जांच का विषय है कि बार बार बिगड़ती मशीन पर कब कितना मेंटिनेंस चार्ज लगा था।

कुल मिलाकर सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार जेई बड़ा तानाशाह प्रवृत्ति का है। वो व्यवस्था बनाने के नाम पर पावर हाऊस से दिन भर गायब रहता रहता है और मनमर्जी से शाम को काम शुरू कराता है। इन्हे नवरात्रि की फिक्र नहीं और ये भी फिक्र नहीं कि जनता पिछले 5 दिनों से भीषण समस्या मे हैं। जन आक्रोश बढ़ता जा रहा है और बिजली की वजह से लोग अब योगी सरकार को भी कोसने लगे हैं। शीघ्र ही बिजली समस्या हल नहीं हुई तो जनता सड़क पर होगी।



चर्चित खबरें