‘स्वदेशी अपनाओ, देश बचाओ’ इस नारे की आवाज़ तो आप लोग"/>

स्वदेशी अपनाओ देश बचाओ के लिए विशाल मानव श्रंखला का निर्माण

‘स्वदेशी अपनाओ, देश बचाओ’ इस नारे की आवाज़ तो आप लोगों ने हमेशा सुनी होगी। दरअसल इस नारे का मतलब है कि हम अपने देश में बनी वस्तुओं का ही प्रयोग करें न कि बाहर से बनने वाली वस्तुओं का। समय-समय पर कई सामाजिक संगठनों द्वारा स्वदेशी अपनाओ कार्यक्रम के तहत जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

ऐसा ही एक कार्यक्रम आज छतरपुर जनपद के बड़ा मलहरा कस्बे में स्वदेशी जागरण मंच द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत लोगों को स्वदेशी वस्तुओं को अपनाने और विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार करने के लिये जागरूक किया जायेगा।

आज दोपहर बस स्टैण्ड में स्थित इस कार्यक्रम में एक विशाल मानव श्रंखला का निर्माण कर विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार किया जायेगा। संस्था द्वारा नगर के सभी सम्मानित नागरिकों से अनुरोध किया गया है कि वह बस स्टैण्ड में उपस्थित होकर विशाल मानव श्रंखला में भाग लें और देश के विकास में योगदान दें।

आपको बता दें कि स्वदेशी जागरण मंच पूरे देश में 15 सितम्बर से 15 अक्टूबर तक स्वदेशी माह के रूप में मना रहा है। मंच का कहना है कि स्वदेशी अपनाकर हम सब भारतीय देश को सक्षम, सम्पन्न और विकासशील बना सकते हैं। मंच ने लोगों का आह्नान करते हुये कहा कि सभी लोगों को एकता के सूत्र में पिरोने का समय आ गया है, हमें अपने देश की माटी से अत्यंत अनुराग है और इस श्रद्धा का व्यावहारिक प्रदर्शन स्वदेशी अपनाकर तथा विदेशी वस्तुओें का पूर्ण बहिष्कार करके किया जा सकता है।



चर्चित खबरें