पन्ना जिले मे"/>

आदिवासी ग्राम सकरिया मे एक वर्ष से नही है बिजली

पन्ना जिले में चारो तरफ अराजकता का माहौल है अधेर नगरी चैपट राजा की तर्ज पर जिले में चल रहा है प्रशासनिक अधिकारी मनमानी कर रहें है। नियम कानून नाम की कोई चीज नही है आम लोगो की कोई सुनने वाला नही है। जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर आदिवासी ग्राम सकरिया है जहां एक वर्ष से बिजली नही है। ट्रान्सफार्मर जला हुआ है अनेको बार ग्रामीणो ने इस संबंध की जानकारी विद्युत मंडल के अधिकारीयो तथा जिला कलेक्टर को दी है।

उसके बावजूद कोई निराकरण नही किया गया ग्रामीणो द्वारा जिला कलेक्टर को भी जन सुनवाई मे आवेदन दिये गये उसके बावजूद समस्या का हल नही हुआ। गत दिवस सकरिया ग्राम स्वच्छता रैली कार्यक्रम में सासंद नागेन्द्र सिंह पहुचे उनको भी ग्राम वासियो द्वारा उक्त समस्या से अवगत कराया गया।

लेकिन एक हप्ता हो जाने के बावजूद समस्या का समाधान नही हुआ ग्रामीणो ने बताया की एक वर्ष से बिजली न होने के बावजूद लगातार बिल आ रहें है। तथा बिल जमा करने के लिए विद्युत मंडल के अधिकारीयो द्वारा दबाव बनाया जा रहा है।

बिजली न होने के कारण बच्चे की पढाई चैपट है। तथा किसानो एवं आम लोगो को भारी परेशानी है। ज्ञात हो की प्रदेश सरकार द्वारा झूठी वा वाही की जा रही है। की हर ग्राम में बिजली पानी सडक स्वास्थ सुविधाए, रोजगार के कार्य कराया जा रहें है लेकिन जमीनी हकीकत कोशो दूर है।



चर्चित खबरें