कोटेदार की मनमानी से आक्रोशित ग्रामीणों ने जिलाधिका"/>

कोटेदार की मनमानी की ग्रामीणों ने डीएम से की शिकायत

कोटेदार की मनमानी से आक्रोशित ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को सौपकर कार्यवाही की मांग की है। पत्र में कहा कि राशनकार्ड न वितरित कर पर्ची के माध्यम से खाद्यान्न कभी-कभार ही वितरित किया जाता है। ग्रामीणों ने खाद्यान्न की कालाबाजारी के भी आरोप लगाये हैं।

तहसील राजापुर के औदहा ग्राम की बिट्टन देवी, मैना देवी, दुनिया, योगेन्द्र कुमार, लक्ष्मी देवी, माया देवी, सरोज देवी, केता देवी, नीलम देवी, देवराज विश्वकर्मा, शांति, बिंदी, शिव देवी, अनंतू कोटार्य, बिहारीलाल, रामभरोसा, संतोषिया, राम सिंह, राजेश सिंह, पतिया देवी, श्याम देवी, राममनी, कमला आदि दर्जनों ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को सौपे पत्र में कहा कि अभी तक ग्रामीणों के राशनकार्ड वितरित नहीं किये गये। पर्ची के माध्यम से राशन सामग्री दी जती है।

बताया कि औदहा व रैपुरवा में कोटे की दुकाने हैं। जिसमें औदहा का कोटा निलंबित कर रैपुरा में सम्बद्ध किया गया है। सरकारी सस्ते गल्ले के बिक्रेता के बारे में बताया कि बडा पुत्र सोनू कोटे का संचालन करता है। मनमानी दर पर वितरण कर शासन के निर्देशानुसार खाद्यान्न नहीं दिया जाता।

बताया कि अगस्त माह का गल्ला सितम्बर में देने को कहा था। लगभग दो सौ पर्चीधारकों को वापस कर दिया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि खाद्यान्न की कालाबाजारी कर ली गई है। रसूख के चलते कोटेदार के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं करता। सौपे गये पत्र में ग्रामीणों ने मांग की है कि मामले की जांच कर दोषी पाये जाने पर कोटेदार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाये।

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .

अन्य खबर



चर्चित खबरें