उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ "/>

सफाई कर्मियों ने मांगों को लेकर दिया एक दिवसीय धरना

उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ उप्र के प्रान्तीय आवाहन पर उक्त संघ से 10 सूत्री मांगों का निराकरण हेतु उप्र सरकार से कई बार मौखिक एवं लिखित पत्रों के माध्यम से सहमति बनी परन्तु शासनादेश निर्गत न होने से संगठन के लोगों ने सरकार का ध्यान समस्याओं की ओर आकृष्ट करने हेतु कलेक्ट्रेट स्थित गोल चबूतरे में धरना प्रदर्शन किया।

उत्तर प्रदेश ग्रामीण पंचायतीराज सफाई कर्मी संघ ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौपा। ज्ञापन में कहा कि पंचायत विभाग के सफाई कर्मियों को राजस्व ग्रामों मंे सफाई कार्य दिया जाये या प्राथमिक विद्यालय या प्राथमिक पू0मा0विद्यालय में। पंचायती राज विभाग के महिला सफाई कर्मचारियों को ठिलिया खीचने के कार्य से मुक्त किया जाये। पंचायत विभाग के सफाई कर्मियों को ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर पदोन्नति के अवसर प्रदान किये जाये, पेरोल व्यवस्था समाप्त की जाये।

निदेशालय द्वारा सफाई कर्मियों को सुपरवाइजर के पद पर स्वीकृत किये जाने की कार्यवाही अमल में लायी जाये। सफाई कर्मियों को वेतन मद एक हेड में दिया जाये। मान्यता प्राप्त संघ के संचालन हेतु संघ कार्यालय आवंटित किया जाये। सफाई कर्मियों को बकाया, चिकित्सा प्रतिपूर्ति का बजट समस्त जपदों में भेजा जाये। सफाई कर्मियों का ग्रेड पें 1900 रुपये दिया जाये। पुरानी पंेशन योजना बहाल की जाये। उक्त मांगों को लेकर पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मियों ने कलेक्ट्रेट स्थित गोल चबूतरे में एक दिवसीय धरना दिया। इस मौके पर कृष्णगोपाल, मूलचन्द्र कुशवाहा, रजनी, अर्चना, नीतू, संकर, सियाप्यारी, जयनरायन, बाबूराम, राकेश, शारदा, विनोद, विनय, विनोद, रामहेत आदि मौजूद रहे।



चर्चित खबरें