दो माह पूर्व ट्रको से की गई लूटपाट की घटना का अनावरण ह"/>

पुलिस ने गिरफ्तार किये लूटकाण्ड के तीन आरोपी

दो माह पूर्व ट्रको से की गई लूटपाट की घटना का अनावरण हो गया है। पुलिस अधीक्षक ने प्रेस वार्ता के दौरान लूटकाण्ड की घटना का खुलाशा करते हुये बताया है कि लूटकाण्ड की घटना को अंजाम देने वाले तीन आरोपियों को अवैध असलाहे व लूटी गई नगदी व मोबाईल सहित गिरफ्तार कर लिया गया है।

गौरतलब है कि 18 जुलाई की सायं डालापुर पहाड गिट्टी लेने के लिये जा रहे ट्रकों को काली पहाडी के समीप रोक चालक, खलाशी एवं मालिक के साथ मारपीट कर अवैध असलाहों की बटों से रक्त रंजित कर 47 हजार की नगदी व मोबाईल छीन कर जान से मारने की धमकियां देते हुये भाग गये थे।

पीडित चालक की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ धारा 395, 398 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस अधीक्षक अनीस अहमद अंसारी ने शहर कोतवाली टीम व सर्विलांश की टीम को अपर पुलिस अधीक्षक बंशराज यादव की निगरानी में लगी हुई थी। जहां शहर कोतवाल उमेश कुमार वरिष्ठ उपनिरीक्षक केपी सिंह सर्विलांश प्रभारी सुरेन्द्र कुमार यादव, कान्सटेबिल वीरेन्द्र प्रताप सिंह, अरूण यादव आदि द्वारा घटना की सुरागकशी कर लुटेरो के गिरवां तक पहुंच टीका मऊ तिराहे के समीप बीती देर शाम खडे तीन युवक पुलिस को देखते ही दबे पैर भागने लगे।

पुलिस ने उनकी घेराबन्दी कर तीनों को दबोच लिया। पुलिस ने आरोपियों को पकड शहर कोतवाली ला उनसे पूछतांछ की तो दो माह पूर्व की गई टको से लूटपाट का रहस्य उजागर किया। लूटकाण्ड के आरोपी गोपाल पुत्र तुलाराम निवासी नेगवां जिला छतरपुर के पास से 315 बोर की बन्दूक, पीर अली पुत्र दममा अली निवासी काली पहाडी के पास से अवैघ 315 बोर का तमन्चा व कारतूस, महेश पुत्र सीताराम निवासी काली पहाडी के पास से लूटे गये मोबाईल व नगदी बरामद की है। जिसका खुलाशा पुलिस लाईन सभागार कक्ष में पुलिस अधीक्षक अनीस अहमद अंसारी द्वारा किया गया।



चर्चित खबरें