भारत सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय विक"/>

कौशल विकास कार्यक्रम के तहत दिया जा रहा प्रशिक्षण

भारत सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय विकास आयुक्त द्वारा सोप, डिटर्जेण्ट एवं घरेलू रसायन उत्पाद निर्माण आधारित उद्यमता तथा कम्प्यूटर हार्डवेयर मेन्टीनेन्स एवं नेटवर्किंग आधारित उद्यमिता एवं कौशल विकास कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण दिल्ली व कानपुर से आये प्रशिक्षकों द्वारा दिया जा रहा हैं।

गौरतलब है कि मुख्यालय के भूमिका कम्प्यूटर ट्रेनिंग सेन्टर, पारस होटल में भारत सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय विकास आयुक्त द्वारा भेजे गये प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जो 12 सितम्बर से 26 अक्टूबर छह सप्ताह तक अनवरत क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को अपने घर व गांवों में लघु उद्योग कर अपनी अपना व परिवार का भरण पोषण कर सकते है। घरेलू रसायन उत्पाद निर्माण आधारित उद्यमता एवं कौशल विकास कार्यक्रम अवधि में डिटजेन्ट पावडर, लिक्विड डिटर्जेन्ट, लिक्विड सोप, डिश वाश, हेयर आॅयल, फ्लोर क्लीनर, शैम्पू, टेल्कम पाउडर, सेनेटाईजर, टाॅयलेट क्लीनर, ग्लास क्लीनर, नेल पाॅलिस, नेल रिमूवर, बूट पाॅलिश, उद्यमिता, विपणन,, उद्योग स्थापना, ऋण एवं विभिन्न, सरकारी विभागों द्वारा प्रदत्त योजनाओं की सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक जानकारी उपलब्ध कराई जायेगी।

कम्प्यूटर हार्डवेयर मेन्टीनेन्स एवं नेटवर्किंग आधारित उद्यमिता एवं कौशल विकास कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण दिल्ली व कानपुर से आये प्रशिक्षकों द्वारा कम्प्यूटर असेम्बली, मेन्टीनेन्स, ट्रबुल शूटिंग, सम्बन्धित विषयों पर पैक्टिकल डिमान्सट्रशन, बेसिक हार्डवेयर सम्बन्धित ज्ञान (कीबोर्ड, माउस,स्कैनर, वेव कैमरा) माॅनीटर (हार्ड डिस्क, सीसी ड्राईव, सीसी राईटर, फ्लापी ड्राईव, जिप ड्राईव), मदर बोर्ड, एमएमपीएस, यूपीएस तथा रैम का ज्ञान, कम्पोनेंट असेम्बिलिंग, साफ्टवेयरइन्सटालेशन व नेटवर्किग का प्रशिक्षण दिया जायेगा।

एद्यमिता, विपणन, उद्योग स्थापना, ऋण एवं विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा प्रदत्त योजनाओं की सैद्वान्तिक एवं व्यावहारिक जानकारी उपलब्ध कराई जायेगी। प्रत्येक ट्रेड का एक एक बेच में 25 परीक्षार्थी को ही प्रशिक्षण दिया जायेगा।

भूमिका कम्प्यूटर के प्रबंधक महेश चैरसिया ने बताया कि भरत सरकार द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रम के तहत युवाओं को प्रशिक्षत कर उन्हें स्वयं अपने पैरों पर खडा कर स्वतः रोजगार कर जीवकोर्पजन करने हेतु प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि साक्षत्कार का समय प्रातः 11 बजे से एक बजे तक है।



चर्चित खबरें