नगर पालिका परिषद के जिम्मेवार कर्मचारियों की वजह से नगर की दूर्"/>

बस स्टैण्ड का विश्रामालय बना मीना बाजार

नगर पालिका परिषद के जिम्मेवार कर्मचारियों की वजह से नगर की दूर्दशा हो रही है वही दूसरी ओर जिम्मेवारो को कमाई का जरिया बना हुआ है प्राणनाथ बस स्टैन्ड के विश्रामालय की हालत इन दिनो बदतर है जहां विश्रामालय यात्रियों को बैठने तथा आराम करने के लिए होता है।

वहीं पन्ना बस स्टैन्ड में स्थित विश्रामालय के अन्दर मीना बाजार लगा हुआ है तथा संपूर्ण परिषर में दुकाने खुली हुई है आने जाने वाले रहगीरो को बैठने के लिए जगह नही है लोगो द्वारा बताया गया की नगर पालिका के कर्मचारियो द्वारा दुकानदारो को बकायदा दुकाने विश्रामालय के अन्दर ही नियम विरूद्ध आवंटित कर दी गई है। तथा उससे होने वाली कमाई को अधिकारी कर्मचारी डकार रहें है विश्रामालय परिषर के अन्दर गुमटीया तथा डिब्बो की संख्या लगातार बडती जा रही है।

जिसका मुख्य कारण नगर पालिका से कम दामो में दुकाने आवंटित करा कर पावर फुल लोग महंगे दामो पर दुकानदारो को किराये से दे देते है। तथा लगातार कमाई कर रहें है नगर पालिका के अध्यक्ष मुख्य नगर पालिका अधिकारी को इस बात की कोई जानकारी ही नही है जब की नपा के कर्मचारी वकायदा दुकानदारो से रोज बजार बैठकी बसूलते है बजार बैठकी वसूली करने वाले वीरेन्द्र चैरसिया प्रतिदिन हजारो की अतिरिक्त कमाई करता है तथा नगर पालिका के खाता मे मन मुताबिक जमा करता है इस प्रकार चल रहें मनमाने कार्यो पर जिला कलेक्टर को कार्यवाही करना चाहिए स्थानीय लोगो ने कार्यवाही करने की मांग की है।



चर्चित खबरें