विद्युत विभाग द्वारा एक किलोवाट का कनेक्शन होने के बाद भी विभाग"/>

हजारों का बिल आने पर पीडित ने लगाई डीएम से गुहार

विद्युत विभाग द्वारा एक किलोवाट का कनेक्शन होने के बाद भी विभागीय कर्मचारियों द्वारा मनमाने तरीके से हजारों का बिल भेज दिया। पीडित ने जिलाधिकारी व अधिशाषी अभियन्त्रण बिजली विभाग को प्रार्थना पत्र दे आये हजारों के बिल को संसोधित किये जाने की मांग की है।

कबरई विकासखण्ड के पिपरामाफ निवासी चोखेलाल प्रजापति पुत्र चतुरा प्रजापति ने जिलाधिकारी अजय कुमार सिंह तथा अधिशाषी अभियन्त्रण बिजली विभाग को दिये प्रार्थना पत्र में उल्लेख करते हुये बताया कि उसके पास एक किलोवाट का बिजली कनेक्शन है। उसके पास दिनांक 17 अप्रेल 17 को 7425 रूपये बकाया था तथा 31 जुलाई को 24147 रूपये का बिल आया। 24147 रूपये का बिल आने पर चोखेलाल ने 15 हजार रूपये बिजली विभाग में जमा कराये। परन्तु 36 दिन बाद पीडित के पास पुनः सात सितम्बर को 76425 रूपये का बिल विद्युत विभाग द्वारा भेज दिया गया। बिल देखकर पीडित के होश उड गये। उसने दिये प्रार्थना पत्र में उल्लेख करते हुये कहा कि पीडित एक गरीब ब्यक्ति है।

उसने कहा कि बिद्युत बिल कम करने के लिये कई बार विभागीय अधिकारियों से सम्पर्क कर चुका है परन्तु कोई भी कार्यवाही नही हुई। उसने जिलाधिकारी ने गुहार लगाते हुये आये बिल को संशोधित कर उचित बिल भेजे जाने की मांग की है। उसने कहा कि उचित बिल विभाग द्वारा भेजा जाये जिसे वह जमा कर इस मानसिक प्रताडना से बच सके। उसने प्रार्थना पत्र में विभागीय कर्मचारियों को निर्देशित करने की मांग की है।



चर्चित खबरें