मुख्यालय में विभिन्न स्थानों पर पुलिस की मिली भगत से "/>

लाख कोशिशों के बाद भी कस्बा में संचालित जुये के फड

मुख्यालय में विभिन्न स्थानों पर पुलिस की मिली भगत से जुआड खाने संचालित हो रहे है। पिछले पांच वर्षो तक सपा सरकार में लगातार यह जुआडखाने संचालित रहे परन्तु भाजपा सरकार बनते ही जुआडखानों पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था। परन्तु अब वही सपाईयों ने पुलिस से सांठगांठ कर जुआ की महफिले सजाने लगे है। सुबह से ही अराजक तत्वों व जुआरियों का जमावडा उमडने लगता है जिससे आसपास के लोग भयभीत बने हुये है।

मुख्यालय में पूर्व की भांति विभिन्न स्थानों पर जुये की महफिलें सजने लगी है। सपा सरकार में पांच साल तक यह जुआडखाने खाकी और खादी की आड में खुलेआम संचालित होते रहे। लेकिन अब भाजपा सरकार की भी छबि खराब कर रहे है। सुभाष चैकी पुलिस व मनिया देव पुलिस चैकी की मदद से सपा के कार्यकर्ताओं ने फिर जुये की महफिलें सजाना शुरू कर दी है। लोगों द्वारा चल रहे जुआडखानेां की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की थी लेकिन एसपी द्वारा दिये गये निर्देश के बाद भी पुलिस इन जुआडखानों परा नकेल नही कस पा रही है।

क्योंकि हल्का चैैकी इंचार्ज छापामार कार्यवाही से पहले ही जुआडखाना संचालकों को हिदायत दे दी जाती है और पुलिस का इशारा करते ही जुये की महफिलें बन्द कर जुआरी भाग जाते है। बीते रोज जुआडखाने पर छापामार कार्यवाही करने पहुंची पुलिस के हाथों एक भी जुआरी नही लगा। संचालित जुआडखाने में पहुंच रहे अराजक तत्वों के जमावडे से आसपास के लोग भयभीत बने हुये है। प्राचीन धार्मिक स्थल रामकुण्ड व शिवताण्डव के आसपास संचालित जुआडखानों पर अराजक तत्व धार्मिक स्थलों पर पहुंच कर जमावडा लगाते है जहां दर्शन के लिये पहुंच रही श्रद्वालु महिलाओं व युवतियों से छीटाकशी करते है। सज रहे जुआडखाने की महफिलों के चलते यह जुआरी आसपास के क्षेत्र में घूमते नजर आते है।

दर्शन के लिये जा रहे श्रद्धालुओं में भय बना हुआ है। यह जुआरी जुआ में हारने के बाद दारू आदि का सेवन कर यहां आ रही महिलाओं व युवतियों को अकेला देख उनका पीछा कर तरह तरह की अभद्र टिप्पडी करते हुये उन्हें परेशान करते है। मन्दिर समिति के लोगों द्वारा अराजकता करने से मना किया जाता है तो उनसे लडने पर भी यह जुआरी आमदा हो जाते है।



चर्चित खबरें