ये सच है कि सूबे मे भाजपा की सरकार खराब कानून व्यवस्था "/>

अबकी बार ना गुण्डाराज ना भ्रष्टाचार पर चल रहा है हत्याराज

ये सच है कि सूबे मे भाजपा की सरकार खराब कानून व्यवस्था के चलते गुण्डाराज व भ्रष्टाचार के खिलाफ जनता द्वारा चुनी गई थी। धर्म नगरी चित्रकूट जिला भी उत्तर प्रदेश मे आता है। लेकिन यहाँ कभी डकैत कहर बरपाते हैं तो कभी गाहे बगाहे हत्या का खेल जारी है और पुलिस के तो सुरखाब के पर लगे हुए हैं। एसपी साहब बड़े तेज तर्रार बताए जाते हैं लेकिन एक हत्या को होकर 24 घण्टे से ज्यादा बीतते नहीं और दूसरी हत्या एक ही थाना क्षेत्र मे घटित हो जाती है। साहब ये उत्तर प्रदेश है और चित्रकूट पुलिस बड़ी सख्त व बहादुर है जिसके जुमले खूब सुनने को मिलते हैं।
 

हालात कैसे हैं__
24 घंटे पहले इसी जिले के थाना पहाड़ी के नोनार गांव मे एक आदमी को मारकर हत्या आरोपियों ने पेड़ पर टांगकर आत्महत्या का स्वरूप प्रदान कर दिया। अब जरा जान लीजिए कि हत्यारे तेज तर्रार हैं अथवा पुलिस तेज तर्रार है और शासन योगी जी का है। आज सुबह जब चाय पीने का वक्त था तब मौत की खबर आ गई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पास हाहाकार मच गया लेकिन पुलिस उस वक्त सो रही थी। अंततः दलित जाति के सैकड़ो लोग सड़क पर आ गए और चक्काजाम कर दिए।
अब एलार्म बज चुका था। एसपी डीएम और थाना की पुलिस की नींद खुल चुकी थी पर तब तक बवाले जाम हो गया। अभी तक अपराधी की धर पकड़ हुई या नहीं कुछ साफ नहीं हो सका।
 

पुलिस के रवैए से शासन पर सवालिया निशान_  
जो सरकार ही अच्छी कानून व्यवस्था के लिए बनी थी। उस सरकार मे पुलिस की ढीलाढाली की खबरें सुर्खियों मे बनी हुई हैं। जिससे अब योगी की पुलिस प्रशासन पर पकड़ ढीली होने की खबर वनिस्पत होने लगी है। खासतौर से चित्रकूट पुलिस जेबकतरों पर जरूर भारी पर सकती है पर मजाल है कि डकैत और हत्यारों को पकड़ सके और जब अंधे के हाथ बटेर लग जाती है तब यकीनन ढींढारा ज्यादा पीटती है। अब वक्त आ गया है जब यूपी सरकार को पुलिस प्रशासन को टाइट करना ही होगा।

About the Reporter



चर्चित खबरें