इस युग में सतत विकास अतिआवश्यक है : डीपीआरओ, बाँदा

बच्चों की अत्यन्त लोकप्रिय वैज्ञानिक गतिविधि राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस को सफल बनाने हेतु आज साइंस रिसर्च बाँदा द्वारा जनपद के शिक्षकों हेतु मार्गदर्शक शिक्षक दिशानिर्देशन कार्यशाला का केसीएनआईटी के बी.एड. संकाय में आयोजन किया गया।
 
कार्यशाला का शुभारम्भ जनपद के शिक्षा विभाग के मुखिया एच.रहमान-जिला विद्यालय निरीक्षक बाँदा, के.के.सिंह-जिला पंचायत राज विभाग के अधिकारी, बाँदा, केसीएनआईटी के डीन डा.विवेक सिंह व विज्ञान कांग्रेस जिला समन्वयक शनि कुमार व श्याम निगम ने दीप प्रज्जवलित कर किया।
 
कार्यशाला के आयोजन का मुख्य उद्देश्य शिक्षको के माध्यम से बच्चों को प्रोजेक्ट बनाने की विधा को सिखाना व साथ ही स्थानीय समस्याओं पर वैज्ञानिक समाधान खोजने के लिए बच्चों को प्रेरित करना है।

प्रतिभागी शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक बाँदा, एच.रहमान ने कहा कि शिक्षक बच्चो के लिए प्रेरणा श्रोत हैं बच्चे शिक्षकों की हर बात को मानते हैं इसलिए शिक्षक का दायित्व है कि पहले बच्चों की जिज्ञासा को चरम सीमा तक बढ़ाएं फिर उन्हें नवाचार के लिए प्ररित करें क्योकिजीवन मे नवाचार निखार लाता है।

पंचायत राज विभाग के अधिकारी के के सिंह ने कहा कि इस वर्ष का विज्ञान कांग्रेस का विषय अतिरोचक है। सतत विकास के लिए विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार। आज के इस युग में सतत विकास अतिआवश्यक है क्योकि सतत विकास समाज को विकास से विकसित की श्रेणी में ले जाता है। केसीएनआईटी के डीन डा.विवेक सिंह ने कहा कि भौतिकवादी युग में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की महत्वपूर्ण भूमिका है। क्योंकि यह कम समय में सोंचने और करने की क्षमता को बढ़ाती है।
 
क्लब के शनि कमार ने विज्ञान कांग्रेस की विस्तृत रूप रेखा प्रस्तुत करते हुए बच्चों के लिए इसकी उपयोगिता को बताया। संदर्भ व्यक्ति के रूप में उपस्थित महिला स्नात्कोत्तर महाविद्यालय के डा. जितेन्द्र कुमार एवं डा. जय चैरसिया व डा. रामेन्द्र गुप्ता ने प्राजेक्ट बनाने की विधा एवं उपविषयों पर विस्तार से चर्चा की।

अन्त में केसीएनआईटी के श्याम निगम ने ब्लू व्हेल जैसे गेम्स को प्रौद्योगिकी की दुरपोगिता को रोकने की अपील करते हुए सभी आगन्तुकों का अभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन बी.एड. संकाय के डा.रामेन्द्र गुप्ता एवं डा.विजय प्रकाश शुक्ला ने किया। क्लब के पुष्पेन्द्र साहू, राज केशरवानी, केसीएनआईटी के सत्य प्रकाश, जितेन्द्र गुप्ता एवं श्याम निगम का विशेष सहयोग रहा।



चर्चित खबरें