< शिक्षक भी दो प्रकार के होने लगे हैं - सुधीर यादव Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News वर्तमान समय में शिक्षक भी दो प्रकार के होने लगे हैं इ"/>

शिक्षक भी दो प्रकार के होने लगे हैं - सुधीर यादव

वर्तमान समय में शिक्षक भी दो प्रकार के होने लगे हैं इसमें एक संस्कारित शिक्षक जो बच्चों में शिष्टाचार शालीनता जैसे गुणों का सृजन करता है जबकि दूसरा व्यवसायिक शिक्षक जिसकी नजर में शिक्षा एक व्यवसाय हैै ।

यह बात शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में इम्मानुअल हायर सेकेंडरी स्कूल में आयोजित शिक्षक दिवस सम्मान समारोह एवं सांसद निधि से स्कूल में बनवाये गये नवीन हाॅल के लोकार्पण अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाजपा नेता सुधीर यादव ने कही।

आगे उन्होने कहा कि शिक्षक का छात्र से मित्रवत संबंध होता है जो उसको सामाजिकता, मानवता, संस्कार और भविष्य निर्माण की दिशा प्रदान करने का काम करता है तभी तो पश्चिमी देश मानते है कि भारत के छात्र पढकर पूरी दुनिया को दिशा दिखाने का काम कर रहे है, लेकिन यह सब काम केवल शिक्षकों का नहीं हैं इसमें छात्रों की भी बराबर जिम्मेवारी है कि वे ध्यान से पढे और प्रतिदिन स्कूल से कुछ न कुछ नया सीखकर जाये, जो भी काम करें चाहे पढाई हो, खेल हो संगीत शिक्षा हो पूरी ताकत लगाकर ग्रहण करे और समाज और देश का नाम रोशन करें।

इस अवसर पर सागर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव जो इस स्कूल के छात्र रहे हैं, इस समय उनके छात्र जीवन के सखा रमेश दुबे ने सांसद निधि से निर्मित कक्ष का लोकार्पण किया और अपने छात्र जीवन के स्मरण भी सुनाये कि किस प्रकार इस स्कूल ने शनै-शनै विकास कर इस मंजिल तक का सफर किया है।

कार्यक्रम के प्रारंभ में शाला स्टाफ द्वारा अतिथियों का सम्मान किया गया और प्राचार्य द्वारा शाला का वार्षिक प्रतिवेदन का वाचन किया गया। तत्पश्चात अतिथियों का सम्मान किया गया । इस अवसर पर शाला के समस्त स्टाफ सहित पूर्व छात्र और बच्चों के अभिभावक उपस्थित थे।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें