अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वार"/>

डीएम ने महाविद्यालयों, कॉलेजों में व्यवस्थायें करने के दिये निर्देश

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष उपस्थित होकर छात्रों की विभिन्न समस्याओं के संदर्भ में ज्ञापन दिया गया था। उक्त ज्ञापन में उल्लिखित समस्याओं के निराकरण के संदर्भ में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह द्वारा अपर जिलाधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी की एक बैठक बुलाई। बैठक में जिलाधिकारी ने जिले में सूखे की समस्या को देखते हुए सभी महाविद्यालयों, इण्टरमीडिएट कॉलेजों, हाईस्कूलों तथा प्राथमिक एवं जूनियर हाई स्कूलों में समुचित पेयजल व्यवस्था बनाये रखने के लिए आवश्यक सर्वे करने एवं प्रभावी उपाय करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने सभी महाविद्यालयों में पंखों की उपलब्धता सुनिश्चित करने, शौचालयों में साफ-सफाई की व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिये।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा दिये गये ज्ञापन में महाविद्यालयों में नियमित कक्षायें नहीं चलाये जाने का उल्लेख किया गया था, जिसके संदर्भ में जिलाधिकारी महोदय ने क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि वह जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम बनाकर औचक निरीक्षण करायें तथा इण्टर कॉलेजों, हाई स्कूलों एवं महाविद्यालयों के अध्यापकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक उपस्थिति दर्ज की जाये। साथ ही जिला विद्यालय निरीक्षक को यह भी निर्देश दिये कि माह के अन्त में वेतन भुगतान करते समय बायोमेट्रिक उपस्थित के अनुसार वेतन जारी किया जाये।

जिलाधिकारी ने अवैध कोचिंग सेन्टरों पर नकेल कसने के लिए रजिस्टर्ड कोचिंग सेन्टरों को पुनर्सत्यापित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने सरकारी स्कूल, कॉलेजों को ऐसे शिक्षकों को चिन्हित करने के निर्देश दिये जो कोचिंग पढ़ाते हैं, ताकि उनके निलम्बन की कार्यवाही की जा सके।



चर्चित खबरें