शिक्षा के मंदिर में छात्रों द्वारा इन दिनों बढती हुई "/>

शिक्षा के मंदिर में छात्रों द्वारा अनुशासनहीनता चिंता का विषय है

शिक्षा के मंदिर में छात्रों द्वारा इन दिनों बढती हुई अनुशासन हीनता बेहद चिंता का विषय है। विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण करने आने वाले छात्र-छात्रायें विद्यालयों में अनुशासनहीनतापूर्णं कार्य व्यवहार शिक्षकों एवं प्रधानाध्यापक के साथ करते हैं जो कि आने वाले समय के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। कस्बा मडावरा में छोटी कक्षाओं से लेकर बडी कक्षाओं तक के विद्यालयों का संचालन हो रहा है जहां पर भारी संख्या में छात्र-छात्रायें शिक्षा ग्रहण करने आते हैं।

विद्यालयों में अध्ययन करने आने वाले छात्रों के द्वारा अध्ययन में ध्यान कम देकर अनुशासन हीनता के कार्यव्यवहार को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है, जो कि अच्छी पीढी के निर्माण में अच्छा संकेत नहीं हैं। विद्यालयों में छात्र-छात्रायें समय पर आयें, शिक्षको के प्रति अच्छा कार्य व्यवहार करें इसके लिए अभिभावकों को भी अपने बच्चों पर नजर रखने की आवश्यकता है।

विद्यालयों में छात्र-छात्रायें पढें, आगे बढें इसके लिए आवश्यक है कि उन्हे शिष्टाचार अपनाना होगा, विद्यालयों के नियमों का पालन करना होगा, अनुशासनहीनता के कार्यों से बचना होगा तभी सही मायने में वे एक अच्छे छात्र बन पायेगें तथा विद्यालयों में शैक्षिक वातावरण अच्छा बनाने हेतु अपने अध्यापकों का सम्मान करना होगा तभी सही मायने में विद्यालयों में शैक्षिक वातावरण अच्छा बन पायेगा। 



चर्चित खबरें