?> मेले में आयोजित कृषि प्रदर्शनी में किसानों को दी जानकारियां बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ पंडित दीनदयाल जन्मशती के उपलक्ष्य में आयोजित चार दि"/>

मेले में आयोजित कृषि प्रदर्शनी में किसानों को दी जानकारियां

पंडित दीनदयाल जन्मशती के उपलक्ष्य में आयोजित चार दिवसीय अन्त्योदय मेला, प्रदर्शनी के दूसरे दिन भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें उप कृृषि निदेशक जी.राम तथा डाॅ0 जी.के.कटियार मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर गोष्ठी की शुरूआत की। गोष्ठी में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग में पंजीकृृत लखनलाल एंड कम्पनी ने लोकगीत कार्यक्रम के माध्यम से पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन पर प्रकाश डाला एवं उपस्थित जनसमूह का मनोरंजन किया।

इस अवसर पर उप कृृषि निदेशक ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगो को कृृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में विस्तृृत जानकारी देते हुए बताया कि किसान भाई कृृषि से सम्बन्धित समस्त योजनाओं का लाभ लेेने के लिए कृृषि विभाग में आॅनलाइन पंजीकरण अवश्य करायें। पंजीकरण के लिए आधार नम्बर, मोबाइल नम्बर तथा खतौनी की प्रति अनिवार्य है। राष्ट्रीय कृृषि योजनान्तर्गत खेत तालाब योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सरकार इस योजनान्तर्गत कृृषक को लागत का 50 प्रतिशत अनुदान स्वरूप देती है। उन्होने बताया कि फसल अवशेष जलाने पर जुर्माना तथा सजा का प्राविधान है अतः कृृषक भाइयों से अपील है कि वे अपनी फसलों का अवशेष न जलायें। फसल ऋण मोचन योजना का लाभ उठाने के लिए कृृषक ज्यादा से ज्यादा पंजीकरण करायें तथा केसीसी खाते से आधार लिंक करायें। पान अनुसंधान केन्द्र के आई.ए.सिद्दीकी ने पान की खेती के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि महोबा पान की खेती में विश्व प्रसिद्ध है। पान की खेती अपने आप में नगदी फसल है अतः किसान पान की खेती करके अधिक लाभ कमा सकते हैं।उन्होने यह भी कहा कि किसान शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों से निरन्तर सम्पर्क बनाये रखें।

प्रधानमंत्री कौशल केन्द्र महोबा की प्रबन्धक उपीक्षा अग्रवाल ने युवाओं को सरकार द्वारा संचालित रोजगार शिक्षण केन्द्र में प्रशिक्षण प्राप्त कर रोजगार प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होने बताया कि हमारे केन्द्र में डेढ़ महीने का निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है तथा अच्छी-अच्छी कम्पनियों में प्लेशमेन्ट सेल द्वारा रोजगार उपलब्ध कराया जाता है। यह प्रोग्राम पूणतः निःशुल्क है, यदि कोई शुल्क मांगता है तो केन्द्र मे सम्पर्क करें। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने पशुपालन के बारे में बताया कि इन्जेक्शन लगाकर दूध न निकालें यह पशु एवं दूध पीने वाले लोगों दोनों के लिए घातक है। क्योंकि इन्जेक्शन में कार्सिनोजेनिक पदार्थ होते हैं जो विभिन्न प्रकार के कैंसर को पैदा करते हैें।

इस अवसर पर सलाहकार एन.एफ.एस.एम. जयनारायण चन्सौरिया, जिला उद्यान अधिकारी डाॅ0 बल्देव प्रसाद, मनोरंजन कर निरीक्षक पंकज कुमार रावत, अपर जिला सूचना अधिकारी सतीश कुमार यादव, दुग्ध विकास अधिकारी आई.जी.कुशवाहा आदि ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर संचालित सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी देकर कार्यक्रम को सफल बनाने में सहायता की।



चर्चित खबरें