?> फार्मेसिस्ट के जीआरपी की हिरासत में होने से अस्पताल में लटका ताला बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ जहरखुरानी गिरोह की निशानदेही पर झांसी जीआरपी द्वारा"/>

फार्मेसिस्ट के जीआरपी की हिरासत में होने से अस्पताल में लटका ताला

जहरखुरानी गिरोह की निशानदेही पर झांसी जीआरपी द्वारा गिरफ्तार किये गये फार्मेसिस्ट के जीआरपी के हिरासत में होने के कारण अस्पताल में ताला लटकने की नौबत हो गयी है। वार्ड व्याय ताला खोलकर कर महज बैठा रहता है मरीज आने के बाद वापस लौंटने को मजबूर हो रहे है। झांसी के प्लेटफार्म में दम्पत्ति के साथ हुई जहरखुरानी की घटना के बाद महिला की मौत के बाद सक्रिय हुई जीआरपी ने जहर खुरानी गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

पकड़े गये आरोपियों ने जीआरपी को बताया था कि वह नशे की गोलियां कस्बे के शांती मेडिकल स्टोर से खरीदकर लाते है। इस खुलासे के बाद जीआरपी ने आरोपियों की निशानदेही पर कस्बे के शांती मेडिकल स्टोर में छापामार कर मेडिकल स्टोर के मालिक मोनू गुप्ता के बड़े भाई शैलेन्द्र उर्फ लड्डू गुप्ता को पूंछताछ के लिये अपने साथ झांसी ले गये है। पिछले दो दिन से जीआरपी की हिरासत में होने के कारण पचखुरा बुजुर्ग के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में ताला पड़ा हुआ है। बता दे कि शैलेन्द्र गुप्ता फार्मेसिस्ट पद पर पचखुरा बुजुर्ग में तैनात है। यहां पर डाक्टर न होने के कारण मरीज देखने तथा दवा वितरण करने की जिम्मेदारी इन पर ही है।

फार्मेसिस्ट के जीआरपी के हिरासत में होने के कारण अस्पताल में ताला खोलने तथा बंद करने की जिम्मेदारी वार्ड व्याय हीरालाल के ऊपर है। पचखुरा बुजुर्ग के प्रधान प्रतिनिधि रामनरायन सोनकर ने बताया कि ग्रामीण उपचार के लिये अस्पताल जा रहे है लेकिन किसी जिम्मेदार के न होने के कारण उपचार नही हो पा रहा है।

प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. आशुतोष निरंजन ने बताया कि फार्मेसिस्ट के हिरासत में होने की खबर उनको नही थी। गुरूवार को दोपहर बाद पता चला है। शुक्रवार से किसी डाक्टर को पचखुरा बुजुर्ग भेजकर लोगों को उपचार की सुविधा दी जायेगी।



चर्चित खबरें