स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 71वे स्वतंत्रता दिवस तक ख"/>

खुले में शौंच से फैलती हैं बीमारियां : डीएम

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 71वे स्वतंत्रता दिवस तक खुले में शौच से आजादी सप्ताह मनाया जा रहा है। इस दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्य अतिथि सदर विधायक चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय व जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी की अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसके बाद स्वच्छता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया।

सदर विधायक ने कहा कि जनपद को खुले में शौच से मुक्त करना है। सरकार इस ओर काफी प्रयास कर रही है। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के द्वारा भी स्वच्छता के बारे में विभिन्न योजनाएं व सुझाव दिये जा रहे हैं। सरकारी धन में पंचायत विभाग द्वारा राज्य वित्त चौदहवां वित्त आदि मदों में सही उपयोग नहीं किया गया। जिम्मेदारी का भाव पैदा होना चाहिए तभी विकास कार्य होते हैं। प्रेरणा की कमी है। शौचालय जीवन की पद्धति का एक अंग बन चुका है। इसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, आंगनबाड़ी आदि के माध्यम से जागरूकता पैदा करें। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी इसमें अहम भूमिका निभा सकते हैं कयोंकि उन्हें 60 वर्ष की नौकरी करनी है। प्रधान तो पांच वर्ष के होते हैं। भगवान राम की तपोस्थली है। धारणा को बदलकर अच्छे कार्य करने होंगे।

जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने कहा कि खुले में शौच से जिले को मुक्त कराना है। इसमें संस्थाएं बढ़-चढ़कर भाग लें ओर गांव की आबादी को इस दिशा में जागरूक करें। यह शासन की 12 हजार की धनराशि एक प्रतीक है। सोच में बदलाव करना होगा। 27 गांव इस माह ओडीएफ. करने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें मुख्य विकास अधिकारी शोचालय निर्माण की प्रत्येक दिन समीक्षा करें। बालू आदि की जो समस्या है उसकी व्यवस्था करायी गई है। ग्राम प्रधान यही मानकर चलें कि अगली पीढ़ी के लिए यह कार्य कर रहे हैं। गांव के आप प्रथम नागरिक हैं। गांव में जागरूकता पैदा करें कि जैसे बच्चों की पढ़ाई व बीमारी के लिए कर्ज लेकर कार्य करते हैं तो उसी प्रकार इस कार्य को भी कराया जाये। खुले में शौच जाने से कई तरह की बीमारियां फैलती हैं। जिससे आर्थिक व शारीरिक नुकसान होता है। इसलिए शौचालय का निर्माण कराकर उनका प्रयोग करें और अपने आस पड़ोस में स्वच्छता का विशेष ध्यान दें।

मुख्य विकास अधिकारी जेपी पाण्डेय ने कहा कि जन आन्दोलन बनाने के लिए इस महायज्ञ पर आहूति देना होगा। तभी यह कार्यक्रम सफल होगा। जन सहभागिता के बिना कोई भी कार्य सफल नहीं होता। इसका मूल उद्देश्य यह है कि मिलकर अभियान में जान लड़ा दें। कहा कि हम बदलेंगे तो जग बदलेगा। समाज सेवा, मानव सेवा से ही मान सम्मान पाया जा सकता है। सहायक विकास अधिकारी पंचायत ने खुले में शौच से आजादी के संबंध में बताया कि नौ अगस्त को जिला स्तर से शुभारम्भ किया गया जो 10 अगस्त को विकास खण्ड स्तर पर होर्डिग, पोस्टर बैनर आदि के माध्यम से किया जायेगा, 11 अगस्त को सिनेमाघरों में स्लाइड शो, 12 अगस्त को विद्यालयों में वाद-विवाद एंव निबंध प्रतियोगिता, 13 अगस्त को नुक्कड़ नाटक का आयोजन, 14 अगस्त को विद्यालयों में स्वच्छता पर खेलकूद प्रतियोगिता व 15 अगस्त को विकास खण्ड एवं जिला स्तर पर वृहद कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। गोष्ठी में मुख्य चिकित्साधिकारी डा रामजी पाण्डेय, अभियान संस्था के अशोक कुमार, वाश फोरम के शंकर दयाल पयासी आदि ने भी अपने-अपने विचार रखे।

इसके बाद सदर विधायक व जिलाधिकारी ने चलो गांव की ओर रथ को हरी झण्डी दिखाकर कलेक्ट्रेट परिसर से रवाना किया। इस अवसर पर जिला स्तरीय अधिकारी, ग्राम प्रधान, सचिव, स्वयंसेवी संगठन के पदाधिकारी व पंचायती राज विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .



चर्चित खबरें