< मेरा नहीं सारे साहित्य समाज का हुआ है सम्मान: नैयर दमोही Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

मेरा नहीं सारे साहित्य समाज का हुआ है सम्मान: नैयर दमोही

शायर नैय्यर दमोही के लिखे गीत को फ़िल्म में लिए जाने से जहाँ साहित्य जगत में ख़ुशी की लहर है वही मुस्लिम समाज ने भी अपनी ख़ुशी जाहिर की और नैय्यर दमोही को उनके घर पहुचकर नागरिक सम्मान किया। दमोह जिले को अपनी उर्दू शायरी से देश विदेशों में पहचान दिलाने वाले अंतराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर नैय्यर दमोही का लिखा गीत हिन्दी फ़िल्म "उफ़ ये कैसी आशिकी " में लिया गया जिससे ना सिर्फ  दमोह जिले बल्कि मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है । नैयर साहब  की इस उपलब्धि पर दमोह के मुस्लिम समाज ने अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए शायर नैयर दमोही का  उनके निवास पर पहुँचकर पूरे शहर की ओर से सम्मानित किया।

इस अवसर पर हाजी कय्यूम बाबू ने शाल, अनवारुलहक़ ने मोमेंटो से सम्मानित किया। अमजद डायमण्ड ने डायरी पेन भेट किया वही अनवारुलहक़, मुख्तार जाफरी ने सम्बोधित करते हुए कहा की नैयर साहब ने हमारे जिले व प्रदेश का नाम उस वक़्त देश और दुनियाँ में रौशन किया जब मिडिया का दौर भी नहीं था जिन्होंने हिन्दी और उर्दू ने शायरी से अपना एक अलग मुकाम बनाया सम्मान कार्यक्रम का संचालन हफ़ीज पॉलिटेक्निक ने किया ।

एडवोकेट अनुनय श्रीवास्तव ने निवास पर बीते दिनों से चल रहे झूलोत्सव में काव्य गोष्ठी आयोजित हुई। इस अवसर पर नगर के साहित्यकारों ने कविता पथ किया और रचनाये पड़ी इसी कार्यक्रम के दौरान समस्त साहित्यकारों ने दमोह के शायर नैयर दमोही का नागरिक सम्मान किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक आनन्द श्रीवास्तव , डॉ साहित्य्कार रघुनंदन चिले , प्रेम लता नीलम, अमर राजपूत, रमेश तिवारी, पिम्मी परिहार, अनुनय श्रीवास्तव, अभिनव श्रीवास्तव, नरेंद्र अरजरिया सहित अनेक लोगों ने नैयर दमोही के गीत फिल्म में फिल्माए जाने पर मुबारकबाद सभी ने एक साथ मिलकर शॉल श्री फल और फूल मालाओं से सम्मानित किया। वही आनंद श्रीवास्तव ने सारे नगर और जिले वासिओं की ओर से सम्मानित करते हुये अपनी बात रखी कहा नैयर दमोही जैसा रत्न हमारे बीच में है इस पर सारे नगर को नाज है। कवित्री प्रेम लता नीलन। डॉ चीले ने नैयर दमोही की तारीफ में कविताये पड़ी। वही नैयर दमोही ने सभी का आभार मानते हुये कहा की ये मेरा सम्मान नहीं ये पूरे साहित्य का सम्मान है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें