प्रेम और विश्वास का अटूट रिश्ता भाई बहिन का होता है ज"/>

बाल भवन के आशियाने में दिखा भाई बहिन का प्यार

प्रेम और विश्वास का अटूट रिश्ता भाई बहिन का होता है जिसे सारे देश में रक्षा बंधन के रूप में मनाया गया। समाज सेवी डॉ अजय लाल के दिशा निर्देशन में संचालित आधार शिला संस्थान के बाल  भवन है जहाँ इन बच्चो को भाई का प्यार भी मिलता है तो बहिन का प्यार भी नसीब है। हर भाई की ख्वाहिश होती है की उसकी एक बहिन हो और रक्षा बंधन पर  उसकी कलाई पर रक्षा सूत्र बाँधकर उससे रक्षा का वचन ले और बहिन को भी यही उम्मीद और भरोसा रहता है की मेरा भाई जग से प्यारा। यहाँ रक्षा बंधन का पर्व भी इन बच्चो ने बड़ी ख़ुशी ख़ुशी मनाया और बहनो ने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बाँधा  तो भाइयों ने बहिन की रक्षा का वचन दिया। बाल भवन में रहने वाले ये मासूम बच्चे सबसे ज्यादा खुश नसीब है जिन्हे  यहाँ दुनियाँ की वो हर ख़ुशी नसीब है जहाँ वो सारे रिश्ते मौजूद है जो जिन्दगी में बेहद जरुरी है। यहाँ पर इनकी देखभाल से लेकर अच्छी तालीम तक की विवस्था है जो एक अच्छी जिन्दगी जीने के लिये चाहिए।

यहाँ पर हर तीज तेवहार  सभी मिल जुलकर मनाने है आधार शिला संस्थान का बाल भवन इन बच्चो के लिये किसी सपनो के महल से कम नहीं  बच्चो की हर जरुरत का ख्याल यहाँ रखा जाता है। इन्हे माँ बाप भाई बहिन का प्यार तो मिलता ही है सभी पर्व साथ मनाने का अवसर भी मिलता है।

जिस तरह से बाल भवन के बच्चो के चेहरोँ पर ये मुश्कान देखने मिल रही है उससे ये साफ जाहिर है की जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारो / और यही साबित करता है दमोह का बाल भवन जिसे बच्चो का सपनों का महल कहे तो ज्यादती नहीं होगी।



चर्चित खबरें