परेशान पिता ने अपनी पुत्री को गोली मारने के बाद खुद भी मारी गोली

कोतवाली उरई के मुहल्ला रामनगर स्थित लक्ष्मी मन्दिर के सामने गली मे एक परेशान पिता ने अपनी 20 वर्षीय पुत्री को गोली मार दी। जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। इसके बाद मजबूर पिता ने खुद को भी गोली मार ली। घर पर ही मौजूद उसकी छोटी पुत्री को भी छर्रे लग गये। घायलावस्था मे पिता व छोटी पुत्री को उपचार के लिये जिला अस्पताल मे पहुंचाया । जहां उनका ईलाज चल रहा है सूचना पाकर पुलिस के आलाधिकारी समेत स्वाट टीम व फोरेन्सिक टीम भी मौके पर पहुंच गयी।

घटनास्थल के बारे मे बताते चले कि शुक्रवार को शाम करीब 4 बजे शहर के रामनगर स्थित लक्ष्मी मन्दिर के सामने बाली गली मे दयाशंकर कौशिक निवासी एरच झांसी रमेश खरे के मकान मे अपनी पत्नी व तीन पुत्रियो के साथ किराये से रहता था। उसकी बड़ी पुत्री दीपाली उर्फ दीक्षा 20 वर्ष कोंचिग पढ़ाती है और दयाशंकर तीन चार माह से बिना काम किये घर पर बैठा था। शुक्रवार की शाम करीब चार बजे जैसे ही वह कोचिंग पढ़ाकर अपने घर पहुंची तो घर मे बैठे पिता ने 315 बोर तमंचे से दीपाली को गेाली मार दी। गोली गले मे लगने से वह छत पर गिर गयी और मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद दीपाली के पिता दयाशंकर ने खुद को भी गोलीमार ली।

इस दौरान बगल मे खड़ी उसकी छेाटी पुत्री अंशिका 13 वर्ष को भी छर्रे लग गये। जिससे पिता दयाशंकर व पुत्री अंशिका भी घायल हो गये। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्काल घायल दयाशंकर व अंशिका को उपचार के लिये जिला अस्पताल पहुंचाया। और मृतिका के शव का पंचनामा भर उसे पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। इतना ही नही मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी सदर संतोष कुमार व कोतवाल देवेन्द्र द्विवेदी ने पड़ताल की।

कुछ देर बाद अपर पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र नाथ तिवारी भी मौके पर पहुच गये। और घटना की विस्तृत जानकारी ली।घटनास्थल पर पहुंची फोरेन्सिक टीम ने भी नमूने भरे पुलिस ने श को कब्जे मे लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। दिन दहाड़े पिता द्वारा अपनी ही पुत्री की गोली मारकर हत्या की घटना से क्षेत्र मे सनसनी फैल गयी।