?> गोद लिये गाँव मड़ोरा में चौपाल लगाकर डीएम ने सुनी समस्याएं बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ ग्राम की सम्याओं में प्रमुख रूप से पेयजल समस्या है। ज"/>

गोद लिये गाँव मड़ोरा में चौपाल लगाकर डीएम ने सुनी समस्याएं

ग्राम की सम्याओं में प्रमुख रूप से पेयजल समस्या है। जिसे हल कराने हेतु जल निगम शीघ्र ही जमीन का चयन कर नलकूप टंकी का निर्माण कराकर उसकी इस समस्या का समाधान करेगा।

उक्त बात जिलाधिकारी नरेन्द्र शंकर पाण्ड़ेय ने आज कुपोषण मिशन के अन्र्तगत गोद लिये ग्राम मड़ोरा मे ग्राम वासियों से कही। उन्होने कहा कि पेयजल समस्या को दूर करने हेतु जल निगम को 95 लाख रूपये दिया गया है जिसमें ग्राम मे नलकूप स्थापना एवं टकीं निर्माण, पाईपलाइन डालने का कार्य कराया जायेगा। इसके साथ ही हैण्डपम्पों का रीबोर का कार्य प्रारम्भ हो गया है। ग्राम की सफाई के मामले में आप लोग भी सहयोगी बने। नाले पुलिया मे गोबर कूड़ा डाल कर जल निकासी अवरूध कर दी गयी है जो गलत है। इसकी सफाई कराई जा रही है अब इसमें कचरा डालकर जल निकासी अवरूध न करे। अधिशासी अभियन्ता जल निगम के अनुपस्थित रहने पर स्पटीकरण मागने तथा सहायक अभियन्ता, अवर अभियन्ता जल निगम का वेतन रोकने के निर्देश दिया। क्योकि अभी तक इन्होने पेयजल हेतु टंकी निर्माण का कार्य अभी तक प्रारम्भ नही कराया।

पात्र गृहस्थी कार्ड धारको के सत्यापन मे कार्डनिरस्त किये गये उनके सम्बन्ध मे कारणों सहित बैठक कर ग्राम वासियों को बताये। उसर गाव मे तीन सरकारी भवनो पर अबैध कब्जो की शिकायत पर तत्काल भवनो को खाली कराया गया। आगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षण कर वहा बच्चों से जानकारी हासिल की गयी। बच्चों को स्कूली बच्चों की तरह ड्रेस देने की माग पर कहा की डी0पी0ओ0 मड़ोरा एवं महिया खास दोनो ग्रामों के बच्चो की संख्या बतायेगें जिससे इनकी ड्रेस की व्यवस्था कराई जायेगी।

विद्यालय में कक्षा 3 एवं कक्षा 6 के छात्रों से पढाई के सम्बन्ध में जानकारी हासिल की। शिक्षा का स्तर ठीक न पाये जाने पर शिक्षको को निर्देश दिये कि अगले माह के निरीक्षण तक शिक्षा का स्तर सुधर जाये और बच्चों से जो पूछा जाये वह उसका उत्तर सही सही दे पाये। ग्राम की अन्य समस्याओं एवं लाभार्थी पर योजनाओ के संचालन की समीक्षा की गई।

इस अवसर पर जिला वन अधिकारी वी0आर0अहिरवार, अपर मुख्य चिक्तिसाधिकारी डॉ. आशाराम, डॉ. सत्यप्रकाश, समाज कल्याण अधिकारी जीआर प्रजापति, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी केके ओझा, उप निदेशक कृषि, परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0, एमओआईसी डकोर डॉ. इदरीश मुहम्मद सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।