?> सडक में खोदे गये नाले पर बेरीकेटिंग की मांग बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ मुख्यालय की मुख्य सडकों पर माॅडल सिटी के लिये सडकों क"/>

सडक में खोदे गये नाले पर बेरीकेटिंग की मांग

मुख्यालय की मुख्य सडकों पर माॅडल सिटी के लिये सडकों के बीचों बीच नालियां खोद दी गई। जिन्हे न तो बरसात के मौसम में ढका गया और नही बैरीकेटिंग लगाई गई। जिस कारण अब तक इन नालियों में दर्जनों लाग गिरकर गम्भीर घायल हो चुके है। बरसात के समय नाला और सडक से करीब तीन फिट ऊपर पानी बहता है जिस कारण नाली व सडक में कोई अन्दर ही समझ में नही आता। बुन्देली समाज ने इसका सुरक्षित इंतजाम किये जाने की मांग की है।

बुन्देली समाज के संयोजक तथा रोटी बैंक के संस्थापक तारा पाटकार ने एडीएम आनन्द कुमार को सौपे प्रार्थना पत्र में उल्लेख किया है कि माॅडल सिटी के नाम पर कार्यदायी संस्था के ठेकेदारों ने सडक के बीचों बीच डेढ माह पहले नालियां खोद दी गई थी। जिसका काम कच्छप गति से भी धीमा चल रहा हैं। सडक के बीचों बीच खोदी गई नालियां बरसात के मौसम में राहगीरों के लिये काल साबित हो रही है। जिले में हुई पहली बरसात में पानी नाली व सडक से करीब तीन फिट ऊपर से बह रहा था जिसमें मालूम ही नही चलता था कि कहां सडक है और कहा खोदी गई नाली। जिसमें करीब दर्जन भर बार्ठक सवार नाली में गिरने से डूब गये तथा उनकी गाडियां खराब हो गई। एक महिला पैदल निकलते समय मय बच्चे के पानी में डूब गयी। दिन होने के कारण आसपास के दुकानदारों ने महिला व उसके बच्चे को गड्ढे से निकाला।

एक चैहिया वाहन में सवार आधा दर्जन से अधिक लोग मुसाफिरों के कारण काल के गाल में समाने से बच गये। इन नालियो में अब तक करीब आधा सैकडा से अधिक राहगीर बाईक सवार गिरकर घायल हो गये हैं। कई बार इसकी शिकायत यहां के दुकानदारों द्वारा की गई परन्तु अभी तक इस पर कोई कार्यवही नही की गई है।

बुन्देली समाज के साथ करीब दो दर्जन से अधिक दुकानदारों तथा समाजसेवियों संजय मिश्रा प्रेस क्लब अध्यक्ष, इरफान अली महा सचिव महोबा विकास मंच, संदीप अग्रवाल, राहुल पुरवार, आलोक कुमार, स्वामीप्रसाद, भूपेश, पंकज, सौरभ तिवारी, गोरेलाल कुशवाहा प्रेस क्लाब उपाध्यक्ष, बसीर, राजेन्द्र कुमार मिश्र, रफीक अहमदराजकुमार, रफीक टेलर, सिद्वगोपाल, प्रदीप कुमार, राजेन्द्र कुमार, हरपाल सिंह आदि ने एडीएम को प्रार्थना पत्र सौप नाले के तारों तरफ बैरीकेटिंग लगाये जाने की मांग की है।