कलैक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह क"/>

दस अगस्त को मनाया जायेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस

कलैक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक का शुभारम्भ मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.प्रताप सिंह द्वारा सभी प्रतिभागियों का स्वागत कर किया गया।

सीएमओ डा.प्रताप सिंह ने बताया गया कि मानव के पाचन तंत्र में कई प्रकार के कृमि होते हैं जो पोषक तत्वों को अवशोषित करते हैं जिनके कारण बच्चों के स्वास्थ पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इससे एनीमिया तथा बच्चों शारीरिक, मानसिक विकास बाधित होने जैसी समस्यायें पैदा होती हैं। भारत सरकार के आंकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश में 1-19 वर्ष के बच्चों में कृमि संक्रमण का औसत 36 प्रतिशत है।

इस समस्या से निजात पाने के लिए प्रदेश में वर्ष में दो बार अगस्त तथा फरवरी में ‘‘कृमि मुक्ति कार्यक्रम’’ चलाया जाता है। वित्तीय वर्ष 2017-18 में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान के प्रथम चरण में 10 अगस्त 2017 को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया जाएगा। इसके पश्चात राष्ट्रीय कृमि कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ0 हुसैन खान द्वारा बताया गया कि दिनांक 10 अगस्त को जिले के समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 1-6 वर्ष के बच्चों को तथा स्कूल न जाने वाले 6-19 वर्ष के बच्चों को एल्बेंडाजॉल की दवा खिलायी जाएगी। 6-19 वर्ष के स्कूल जाने वाले बच्चों को दवा उनके विद्यालय में ही खिलायी जाएगी।

इस अभियान के तहत समस्त सरकारी विद्यालय, प्राईवेट विद्यालय, सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों तथा मदरसों में यह दवा खिलायी जाएगी। 10 अगस्त 2017को जो बच्चे दवा खाने से वंचित रहेंगे उनको 17 अगस्त 2017 तक आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा विभिन्न विद्यालयों के माध्यम से दवा खिला दी जाएगी।

इस अवसर पर जिलाधिकारी महोदय ने सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों विशेषत: महिला एवं बाल विकास विभाग तथा शिक्षा विभाग को निर्देशित किया कि कार्यक्रम को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराया जाए।

इस अभियान का सुपरविजन जिला एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाए। कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, बीएसए अम्बरीश कुमार, डीपीओ दीपिका घोष, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी पीयूष चन्द्र राय, एसीएमओ डा.मुकेशचन्द्र दुबे, डा.अजय भाले, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.जे.एस.बख्शी, डा.डी.सी.दोहरे, जिला कार्यक्रम प्रबंधक रजिया फिरोज, अमित मुदगिल, सुरेन्द्र सोनी सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।



चर्चित खबरें