चित्रकूट जिले में पिछले कुछ महीनों से लगातार डकैत पुल"/>

बुन्देलखण्ड के अतिसंवेदनशील इलाको का एडीजी (इलाहाबाद जोन) ने किया दौरा, डकैतो के खात्मे को बताई पुलिस की पहली प्राथमिकता

चित्रकूट जिले में पिछले कुछ महीनों से लगातार डकैत पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं। पुलिस की लगातार कार्यवाही से तमाम दस्यु गैंगों में भी खलबली मची हुई है। ऐसे माहौल के बीच आज अपर पुलिस महानिदेशक (इलाहाबाद जोन) एस. एन. साबत ने चित्रकूट जिले का दौरा किया। इस दौरे की शुरुआत उन्होंने कामतानाथ महाराज की परिक्रमा लगाकर की। इसके बाद सुबह जिले के आला अधिकारियों के साथ उन्होंने कानून व्यवस्था, अपराध मामले और कांवड़ियों की सुरक्षा सहित कई अन्य प्रमुख विषयो की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। इस बैठक के दौरान उन्होंने जिले में दस्यु उन्मूलन के लिए चलाये जा रहे अभियान की जानकारी लेते हुए पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र के नेतृत्व की सराहना की और विश्वास जताते हुए कहा कि जल्द से जल्द बचे हुये दस्यु गैंगों का खात्मा किया जायेगा। उन्होंने बैठक के दौरान जनपद में डकैती प्रभावित क्षेत्रों में सभी को मिलकर डकैतों के विरुद्ध सघन अभियान चलाने का निर्देश दिया।

पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक के बाद एडीजी (इलाहाबाद जोन) एस एन साबत ने पत्रकारवार्ता के दौरान पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए। बुन्देलखण्ड न्यूज के संवाददाता ने एडीजी एस एन साबत से प्रश्न किया कि, "जिले में लगातार डकैत एक के बाद एक घटनाएं अंजाम दे रहे हैं। पुलिस भी लगातार कार्यवाही में लगी है लेकिन उसे सफलता नही मिल रही। क्या जल्द से जल्द दस्यु उन्मूलन के लिए कोई ठोस रणनीति बनाई जा रही है ?
उन्होंने प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि, "पुलिस लगातार दस्यु उन्मूलन के लिए कार्य कर रही है और जल्दी ही हमे सफलता मिलेगी लेकिन इसमें आम लोगो को भी सहयोग करना होगा ।"

पुलिस लाइन में ही बैठक के बाद उन्होंने भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक जाटव सहित उद्योग व्यापार मंडल के प्रतिनिधि मंडल से बातचीत की। इस दौरान जिला अध्यक्ष पंकज अग्रवाल, राहुल गुप्ता, सुरेश मिश्रा सहित उपस्थित सभी व्यापारियो ने जिले में कानून व्यवस्था को सुधारते हुए डकैतो के जल्द से जल्द खात्मे की बात रखी। जिस पर उन्होंने आश्वासन देते हुए कहा कि पुलिस का प्रयास लगातार जारी है कि व्यवस्थाएं सुचारू से चले लेकिन इसमें आप सभी का भी सहयोग चाहिए।

पुलिस लाइन में जिले की कानून व्यवस्था की समीक्षा करने के बाद अपर पुलिस महानिदेशक (इलाहाबाद जोन) ने बुन्देलखण्ड के सबसे संवेदनशील इलाके बहिलपुरवा पहुंचे जहां उन्होंने थाने के निरीक्षण के साथ साथ प्राथमिक विद्यालय बहिलपुरवा का भी निरीक्षण किया और वहां बच्चों को काफी देर तक पढ़ाते हुए उनसे सवाल जवाब भी किये। यह पहली दफे देखने को मिला की पुलिस महकमे का कोई बड़ा अफसर पाठा के बीहड़ इलाके में इतनी सादगी से बच्चो से रूबरू हुआ जबकि पुलिस महकमे के आला अफसर सहित अधिकांश जनप्रतिनिधि दस्यु प्रभावित इन तमाम इलाको में आने से कतराते हैं। थाने में निरीक्षण के दौरान उन्होंने कमरों में एलईडी बल्बो का प्रयोग करने को कहा। थाने परिसर में साफ सफाई की उन्होंने काफी तारीफ की। थाना परिसर का भ्रमण किया गया तथा दस्तावेज को चैक करते हुये सुधार हेतु निर्देशित किया गया।
एण्टी डकैती टीम तथा डकैतों के विरुद्ध चलाये जा रहे  अभियान  से वार्तालाप कर टीम को डकैतों के विरुद्ध अभियान में पूर्ण सहयोग हेतु निर्देशित किया गया।

बहिलपुरवा थाने और प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण करने के बाद एडीजी (इलाहाबाद जोन) ने अमहाई गांव में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। चौपाल में महिलाओं ने अस्पताल न होने के कारण हो रही दिक्कतों के बारे में एडीजी महोदय को बताया जिस पर उन्होंने भरोसा दिलाते हुए कहा कि वो शासन स्तर (स्वास्थ्य विभाग) पर ये विषय रखेंगे। डकैतो के विषय पर उन्होंने कहा कि इसमें आप सभी (ग्रामीणों) का भी साथ चाहिए तभी इनका खात्मा होगा।
 
बहरहाल पूरे लावलश्कर के साथ पुलिस महकमे के इतने बड़े अधिकारी का दौरा तो खत्म हो गया लेकिन आने वाले दिनों में इसके क्या मायने होगे ये तो बाद  में पता लगेगा बहरहाल इस दौरे ने जनता की सुरक्षा के प्रति पुलिस की प्राथमिकता को जरूर मजबूत किया है । ये महज कोई संयोग नही है कि जिस इलाके में पिछले कुछ दिनों से लगातार डकैतो का प्रचण्ड खौफ देखने को मिल रहा था वहां आज अचानक पुलिस महकमे का आला अधिकारी पूरी फ़ोर्स के साथ पहुंचा । पुलिस की लगातार कार्यवाही से पहले ही डकैतो की हालत खराब है और ऐसे में इस दौरे ने पुलिस को एक कदम और आगे कर दिया है ।

आज पूरे दौरे के दौरान एडीजी (इलाहबाद जोन) के साथ डीआईजी ज्ञानेश्वर तिवारी , पुलिस अधीक्षक चित्रकूट प्रताप गोपेन्द्र , अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी सहित समस्त क्षेत्राधिकारी तथा जनपद के सभी थाना/चौकी प्रभारी मौजूद रहे ।

 



चर्चित खबरें