जिला विज्ञान क्लब के तत्वावधान में टीचिंग एड्स वर्क"/>

टीचिंग एड्स वर्कशाप फार साइन्स के तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन

जिला विज्ञान क्लब के तत्वावधान में टीचिंग एड्स वर्कशाप फार साइन्स टीचर तीन दिवसीय आयोजन के प्रतिभागी सम्मान समारोह मे विभिन्न प्रयोगों द्वारा विज्ञान व गणित शिक्षण की तकनीकी की जानकारी देते हुये प्रतिभागियों को साहित्य व प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के प्रतिभागी सम्मान समारोह मे मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित शरद कुमार वर्मा वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा ने कहा कि टीचिंग एड्स वर्कशाप फार साइन्स टीचर के आयोजन से विज्ञान शिक्षकों को टीचिंग एड्स का प्रयोग कर रूचि पूर्ण बनाते हुये विज्ञान शिक्षण मे छोटे-छोटे प्रयोग करके शिक्षण तकनीकि की जानकारी दी गयी तथा उन्होने वैज्ञानिक सोच पैदा करने की आवश्यकता पर जोर देते हुये अध्यापकों को छात्र/छात्राओं मे वैज्ञानिक दृष्टिकोण पैदा करने  हेतु आगे आने को कहा।

कार्यकृम में डा0 ओपी गुप्ता ने अपने वैज्ञानिक व्याख्यान मे प्रकाश का परावर्तन, अपवर्तन, पूर्ण आन्तरिक परावर्तन, मिरर इमेज, निर्वात आदि व उनके अनुप्रयोगों की जानकारी देते हुये बगैर फुलाये फूल जाना, आदि का प्रायोगिक प्रदर्शन कर विज्ञान व गणित की शिक्षण तकनीकी पर प्रकाश डाला।

उन्होने घर्षण, आर्कमिडीज का सिद्धान्त, तैरने की शर्त, डूबने की शर्त, उत्प्लावकता, आपेक्षिक घनत्व, अनुप्रयोग तापकृम मापन सेल्सियस व फारेनहाइअ, स्केल पद्धति व मानव शरीर का तापक्रम एवं एक पद्धति से दूसरे मे बदलना, गुरूत्व केन्द्र व आधारित प्रयोग, मानव शरीर पर, पीसा की टेढ़ी मीनार टेढ़ी क्यों है- क्यों नहीं गिरती- कब तक नहीं गिरेगी और कब गिर जायेगी वैज्ञानिक आधारित प्रायोगिक प्रदर्शन करते हुये विज्ञान को मनोरंजक तरीके से सिखाने के तरीके बताये। डा0 गुप्ता परावर्तन समतल, उत्तल, अवतल दर्पण के अनुप्रयोग, अपवर्तन, पूर्ण आन्तरिक परावर्तन, पानी से हवा मे, ग्लास से हवा मे प्रयोगों का दिग्दर्शन, वैज्ञानिक माला के साथ-साथ हाथ धोने की वैज्ञानिक विधि एवं चलने, बैठने की वैज्ञानिक विधि की विस्त्रत जानकारी दी।

जिला विज्ञान क्लब के समन्वयक डा0 जीके द्विवेदी ने टीचिंग एड्स फार साइन्स टीचर कार्यशाला के प्रतिभागी सम्मान समारोह मे कहा कि जिला विज्ञान क्लब द्वारा आयोजित ऐसे कार्यक्रमों से विज्ञान व गणित शिक्षकों को नवीन तकनीकि एवं प्रयोगों के माध्यम शिक्षण कार्य को सुरूचि पूर्ण बनाने मे मदद मिलेगी। कार्यक्रम मे प्रभारी खण्ड विकास अधिकारी लालजी गुप्ता, राजकीय माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य बाबू सन्तोष कुमार शर्मा, एबीआरसी कमल किशोर, अखिलेश शुक्ला आदि उपस्थित रहे।



चर्चित खबरें