?> उत्तर प्रदेश मे 384659.71 करोड़ का बजट पास, यश भारती पुरस्कार योजना बंद बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ मानसून पूरे सबाब और उफान पर है तो वहीं योगी सरकार ने म"/>

उत्तर प्रदेश मे 384659.71 करोड़ का बजट पास, यश भारती पुरस्कार योजना बंद

मानसून पूरे सबाब और उफान पर है तो वहीं योगी सरकार ने मानसूनी बारिश के साथ बजट में घोषणाओं की भी बारिश कर दी है। उत्तर प्रदेश सरकार के वित्त मंत्री ने इसे किसानों का बजट करार दिया है। इस बजट से आम जनता की रसोईं पर कितना असर पडेगा वक्त तय करेगा। 

कुल मिलाकर लोककल्याण संकल्प पत्र के जरिए सरकार बनाकर सत्ता में आई भाजपा की रीति नीति इसी बजट सत्र के बाद तय हो चुकी है। जिसमें गन्ना किसानों से लेकर किसान कर्जमाफी योजना के लिए सरकार ने बजट में जगह दी है। हालांकि बड़े किसान ठगे हुए अब भी महसूस कर रहे हैं।  सरकार ने नए रोजगार सृजन पर जोर दिया है तो वहीं प्रदेश में निवेश के दरवाजे भी खोले हैं। प्रदेश के युवाओं को प्राइवेट सेक्टर से लेकर सरकारी रोजगार की जरूरत है जिसकी गुंजाइश कम ही दिख रही है। अभी बहरहाल इस सरकार का प्रथम बजट है। लेकिन जनता की उम्मीदें बरकरा हैं।

सरकार ने अपने पहले बजट में 384659.71 करोड़ रूपये का बजट पेश किया है। बजट में 36,000 करोड़ रूपय से अधिक की रकम सरकार द्वारा किसानों के कर्ज माफी के लिए दिया गया।, सड़कों की मरम्मत के लिए 3972 करोड़ साथ ही दीन दयाल उपाध्याय के नाम से कई योजनाओं को भी हरी झंण्डी दी है, लड़कियांे के लिए स्नातक मुफ्त शिक्षा योजना का शुभारम्भ होगा, लगभग 55781 करोड़ रूपये नई योजनाओं के लिए, अल्पसंख्यक छात्रों को 791.83 करोड़ की स्काॅलशिप, दीन दयाल नगर विकास योजना के लिए 300 करोड़, मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के लिए 288 करोड़ रूपये बजट का प्रावधान किया गया है। 

सरकार ने बचत को ध्यान में रखते हुए सपा सरकार द्वारा चलायी गयी समाजवादी पेंशन योजना, कन्या विद्याधन, साइकिल ट्रैक निर्माण योजना, लैपटाॅप वितरण योजना के साथ-साथ यशभारती पुरस्कार योजना सहित अन्य कई योजनाओं को भी बन्द कर दिया है।