?> विश्वविद्यालय की आधारशिला शीघ्र रखने आएंगे मुख्यमंत्री बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ छतरपुर के लिये गौरव की बात है कि महाराज छत्रसाल के नाम पर हमें वि"/>

विश्वविद्यालय की आधारशिला शीघ्र रखने आएंगे मुख्यमंत्री

छतरपुर के लिये गौरव की बात है कि महाराज छत्रसाल के नाम पर हमें विश्वविद्यालय की सौगात 2 वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दी। शीघ्र ही मुख्यमंत्री विश्वविद्यालय की आधार शिला रखेंगे यह उद्गार आज महाराजा छत्रसाल विश्वविद्यालय के तीसरी वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में पिछड़ा वर्ग-अल्पसंख्यक कल्याण, घुमक्कड़-अर्धघुमक्कड़ जनजाति कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) एवं महिला बाल विकास राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने मुख्य यजमान के रूप में व्यक्त किये।

राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने छत्रसाल विश्वविद्यालय की सौगात पाने के स्मरण बताते हुए कहा कि जब विधानसभा में टीकमगढ़ के विधायक यादवेन्द्र सिंह ने अशासकीय संकल्प लाया तो सभी पड़ोसी जिलों के विधायकों ने भी चाहे वह पन्ना के हों, दमोह के हों या टीकमगढ़ व छतरपुर के सभी ने पूरे दम से मांग पर अपना अधिकार बनाया मगर छतरपुर के सभी जनप्रतिनिधियों ने तथ्यात्मक दावा प्रस्तुत कर मांग को कार्यरूप में बदलने में सहयोगी बनाया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने यह सौगात हम सबको दी।

राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने बताया कि पूर्व नपाध्यक्ष स्व. सरदार प्यारा सिंह इस दुनिया में नहीं हैं मगर हम दोनों जब जनता की उठ रही मांग को लेकर मुख्यमंत्री के पास पहुंचे तो उन्होंने आश्वस्त कर कहा कि आप लोग साथ रहें परिस्थितियां कठिन हैं फिर भी मैं पूरी कोशिश करूंगा कि विश्वविद्यालय छतरपुर में खोला जाये। राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने कहा कि आन्दोलन, मांगें जनप्रतिनिधियों को प्रेरणा व ऊर्जा देते हैं, जिस तरह यूनिवर्सिटी मांग पूरी हुई उसी तरह मेडीकल कॉलेज की मांग भी पूरी होगी। निश्चित रूप से सामूहिक प्रयास खाली नहीं जाते। उन्होंने कहा कि नगर पालिका अध्यक्ष ने बताया कि छतरपुर अमृत सिटी में शामिल हो गया है। छतरपुर सुन्दर व प्यारा है, नगर पालिका अध्यक्ष, पार्षद, विधायक व सांसद सबकी सहभागिता इसमें जरूरी है।

कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि नगर पालिका छतरपुर अध्यक्ष श्रीमती अर्चना सिंह ने कहा कि छत्रसाल विश्वविद्यालय की सौगात हम सबके लिये बहुत बड़ी उपलब्धि है। स्मार्ट सिटी में इसका भी बहुत बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि जिस तरह महाराजा छत्रसाल की वीरगाथा शौर्यगाथा पूरे विश्व में जानी जाती है। निश्चित ही छत्रसाल विश्वविद्यालय का इतिहास भी गौरवशाली होगा। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती अर्चना सिंह ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि विकास में एक हैं और कोई भी कसर विकास में नहीं छोड़ेंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि कलेक्टर रमेश भण्डारी ने स्थापना दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कुलपति व कुल सचिव को बधाई दी।

जिनके प्रयास से सभी परीक्षाएं अच्छे से सम्पन्न हुईं। कलेक्टर रमेश भण्डारी ने कहा कि नये विश्वविद्यालय की स्थापना पर स्टॉफ व व्यवस्था की बहुत बड़ी परेशानी आती है मगर महाराजा छत्रसाल विश्वविद्यालय की टीम ने बहुत ही सरलता से कार्य को अंजाम दिया। समारोह के प्रारंभ में राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव व नगर पालिका अध्यक्ष ने पौधे लगाकर हरयाली का संदेश दिया। स्थापना दिवस समारोह में महाराजा छत्रसाल विश्वविद्यालय के कुलपति व कुलसचिव ने विश्वविद्यालय के कार्ययोजना की जानकारी दी व अतिथियों का जोरदार स्वागत किया।