website statistics
न कानून का भय और मानक की परवाह। शहर में बेखौफ होकर आपे "/>

बेखौफ होकर मानक के विपरीत बजाते है डैक टैक्सी चालक

न कानून का भय और मानक की परवाह। शहर में बेखौफ होकर आपे चालक संभागीय परिवहन निगम के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। वहीं पुलिस महकमा भी आँखे बंद किये हुए हैें। शहर के प्रमुख मार्ग पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय के पास से कान फोड़ू डैक बजाते आपे चाले धड़ल्ले से आते जाते हैं। लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। वहीं, इन वाहनों से तेज ध्वनि विस्तारक यंत्र बजाने के कारण हादसे भी होते रहते हैं। फिर भी प्रशासन ठोस कदम नहीं उठा रहा है।

वाहनों में जहां वह चार पहिया हो या फिर तिपहिया वहन हो। किसी में डैक तेज ध्वनि से बजाने की इजाजत नहीं है। स्वयं मनोरंजन के लिए धीमी गति से डैक बजा सकते हैं लेकिन देखने में आया है कि आपे चालक अपने वाहनों में बड़े-बड़े डैक लगाये हुए हैं और वह काफी तेज आवाज के साथ बजाते हैं। उनकी आवाज इतनी तीखी होती है कि अगर कोई बीमार व्यक्ति हो तो उसकी धडक़न तक थम जाए। वहीं, तेज आवाज बजते डैक और फर्राटा भरते वाहन को पीछे से आ रहे अन्य किसी भी वाहन के सायरन की आवाज सुनाई नहीं पड़ती है। यहीं कारण है कि सबसे अधिक दुर्घटनाएं आपे चालकों से होती हैं।

जबकि नियम यह हैं कि कोई भी वाहन तेज आवाज में डैक नहीं बजायेगा। अगर ऐसा करता पकड़ा जाता है तो उस पर जुर्माने की कार्रवाई की जा सकती है। परन्तु देखा जाता है कि प्रशासन इस ओर गौर नहीं कर रहा है और आपे चालक नियम कानून को ठेंगा दिखाते हुए अपने वाहन सरपट शहर की सडक़ों पर दौड़ा रहे हैं।

 



चर्चित खबरें