लाख कोशिशों के बाद भी कस्बा क्षेत्र में पेयजल की समस्"/>

बूंद बूंद पानी के लिये करनी पड रही भारी मशक्कत

लाख कोशिशों के बाद भी कस्बा क्षेत्र में पेयजल की समस्या से निजात नही मिल पा रहा है। प्रतिदिन आधा दर्जन से अधिक मुहालवासियों को पीने के पानी के लिये भारी मशक्कत करनी पडती है। जल निगमव पालिका द्वारा इक्का दुक्का मुहालों में टेक्र भिजवाये जाने है जिनसे पानी भरने के लिये बच्चे, जवान बूढों को सुबह चार बजे से ही लाईन में लगना पडता है।

गौरतलब है कि कस्बा करई के अम्बेडकर नगर, भगत सिंह नगर, रानी लक्ष्मी बाई नगर, नगर नगर आदि मुहल्लों में पानी की समस्या विराल रूप धारण कर चुकी है। इन मुहालों में कुछ दिनों पहले पाईन लाईन से पानी की सप्लाई कराई गई थी परन्तु अब वह सप्लाई पूरी तरह से बन्द हो चुकी है। विभागीय कर्मचारी इन सूखी पडी पाईन लाईन पर कोई ध्यान नही दे रहे है। क्योकि टेंकरों से इक्का दुक्का मुहाल में पानी भेज देते है और प्रत्येक मुहाल में कागजो में पानी भेजने से उन्हे अच्छी खाशी कमाई हो जाती है। कमाई के लालच में विभागीय कर्मचारी भी इन पाईन लाईनों को दुरूस्त कर स्वयं ही पानी की सप्लाई नही देना चाहते है।

कस्बावासी छत्रपाल सिंह, ठिल्लू, बरेदी धोबी, मन्नू धोबी, बाबू, धांधू पाल बड्डे पाल, बसंता, छोटेलाल, मुन्नी विश्वकर्मा, डाॅ वैधनाथ सहित आधा सैकडा से अधिक लोगों ने बताया कि पानी के लिये सुबह से ही अपने अपने बर्तन लेकर टेकरों का इंतजार करना पडता है। अगर देर हो जाती है एक बूद भी पानी नही मिलता। जिस कारण पानी के लिये दूर दराज के हेण्डपम्पो पर जाकर पानी ढोना पड रहा है। वह जल निगम व पालिका प्रशासन को कोसते हुये कहते है कि काली कमाई के चक्कर में कस्बे में पडी पाईप लाईनों से सप्लाई नही दी जाती है। जिससे कस्वावासियों मे पालिका प्रशासन के प्रति जमकर नाराजगी पनप रही है। कस्वाविासयों ने मुहालवासियो को पानी मुहैया कराये जाने की गुहार लगाई है।

 



चर्चित खबरें