?> देवांगना घाटी में हत्या कर लाश को ठिकाने लगाने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ चौकी सीतापुर पर स"/>

देवांगना घाटी में हत्या कर लाश को ठिकाने लगाने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे

चौकी सीतापुर पर सूचना मिली कि कुन्जबिहारी उर्फ कुन्जल केवट पुत्र अर्जुन केवट निवासी ग्रा0 चकमाली,कपसेठी थाना कोतवाली कर्वी,जनपद चित्रकूट, दिनांक 06.05.2017 की शाम को घर से निकला था, आज तक घर वापस नहीं आया। इस सूचना पर कुन्जल केवट की गुमशुदगी तत्काल दर्ज कर गुमशुदा कुन्जबिहारी उर्फ कुन्जल केवट की खोजबीन आरम्भ की गई। इसी बीच कुन्जल केवट के पिता अर्जुन केवट को अपने पुत्र  की हत्या किये जाने की आशंका हुई तो उसने थाना कोतवाली कर्वी पर सूचना दी जिस पर 13 मई को मु0अ0स0 544/2017 धारा 302/301/147/34 आई0पी0सी0 बनाम शिवअवतार आदि दर्ज किया गया। विवेचना थाना प्रभारी कोतवाली द्वारा प्रारम्भ की गयी। 

श्रीमान पुलिस अधीक्षक चित्रकूट के निर्देशन व क्षेत्राधिकारी शहर के पर्यवेक्षण में मुल्जिमों की गिरफ्तारी एवं घटना के अनावरण हेतु थाना प्रभारी कोतवाली कर्वी के नेतृत्व में टीम गठित की गयी । प्रभारी कोतवाली द्वारा घटना के अनावरण हेतु विवेचना जारी की गयी। दौरान विवेचना यह तथ्य प्रकाश में आया कि गुमशुदा कुन्जल केवट की हत्या उसके ही दोस्तों द्वारा की गयी। 06 मई को कुन्जल केवट शिवअवतार यादव राकेश कुमार केवट व पट्टू केवट ने बेडी पुलिया पर दारू की दुकान से दारू खरीद कर वहीं पर बैठ कर दारू पी, इसी बीच कुन्जल से राकेश एवं शिवअवतार की आपस में कहा सुनी हो गयी। कुन्जल ने राकेश की पत्नी को उल्टा सीधा आरोप लगाकर गाली गलौज किया ।

इसके बाद राकेश ने शिवअवतार से कहा कि यह हमेशा मेरी पत्नी के बारे में अपशब्द कहता रहता है उसके बाद शिवअवतार, पट्टू केवट एवं राकेश ने मिलकर कुन्जल की हत्या की योजना बनायी। शिवअवतार मोटरसाईकिल चलाकर राकेश की सहायता लेकर कुन्जल को अपनी मोटरसाईकिल पर बिठाया एवं कुन्जल के नशे की हालत में देवांगना घाटी पर ले गये। नशे में होने की वजह से कुन्जल प्रतिरोध नहीं कर पाया।

पट्टू टेम्पों से देवांगना घाटी पहुंचा और तीनों ने मिलकर देवांगना घाटी में कुंजल की गला दबाकर एवं पत्थर से कूच-कूच कर हत्या कर दी और लाश को जंगल में छिपा दिया। 12 मई को अत्यधिक शतत् प्रयास के बाद पुलिस द्वारा मृतक कुंजबिहारी उर्फ कुंजल का शव नरकंकाल के रूप में 12 मई को देवांगना घाटी के जंगल से बरामद किया गया। जिसके कपड़े तथा बालों से उसके परिवारीजन द्वारा मृतक की शिनाख्त कुंजबिहारी उर्फ कुंजल के रूप में की गयी। शव को कब्जा पुलिस में लेकर आवश्यक कार्यवाही एवं पंचायतनामा की कार्यवाही करते हुए पोस्टमार्टम कराया गया।

तूलसी महाविद्यालय कर्वी के पास से भोर/प्रातः अभियुक्त राकेश और पट्टू को पुलिस पार्टी द्वारा मुखबिर की सूचना पर हिकमत अमली अमल में लाते हुए वाछिंत अभियक्त को गिरफ्तार किया गया। एवं पुलिस दबाव में आकर गिरफ्तारी से बचते हुए अभियुक्त शिवअवतार द्वारा दिनांक 16 मई को न्यायालय के समक्ष आत्मसमर्पण किया गया। गिरफ्तार शुदा अभियुक्तगण उपर्युक्त ने की घटना घटना का जुर्म स्वीकार करते हुये घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकिल एवं आला कत्ल पत्थर बरामद कराया। मुल्जिमों को जेल भेजा जा रहा है।
 

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम एवं पता-
1. राकेश केवट उर्फ गिल्ली पुत्र खुद्दा निवासी चकमाली, थाना कोतवाली कर्वी।
2. पट्टू केवट पुत्र खुद्दा निवासी चकमाली , थाना कोतवाली कर्वी।
 

गिरफ्तारी हेतु गठित टीम-
1. मो0 शरीफ खान, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कर्वी।
2. रामेन्द्र तिवारी, एस0एस0आई0 कोतवाली कर्वी।
3. शेषमणि तिवारी, चौकी प्रभारी सीतापुर।
4. राजबहादुर सिंह कोतवाली कर्वी।
5.विवेक कुमार कोतवाली कर्वी।
6.गौरव कोतवाली कर्वी।
7. महेन्द्र कुमार सिंह, चौकी सीतापुर।
8. बांकेबिहारी राय चौकी सीतापुर।