?> 26 मई से लखनऊ में होगा बुन्देली समाज का अनशन बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ जिले में एम्स की स्थापना को लेकर 260 दिन का धरना व उपवास करने वाले ब"/>

26 मई से लखनऊ में होगा बुन्देली समाज का अनशन

जिले में एम्स की स्थापना को लेकर 260 दिन का धरना व उपवास करने वाले बुन्देली समाज के संयोजक तारा पाटकार ने जिला प्रशासन के अधिकारियों की वायदा खिलाफी के विरोध में 26 मई से लखनऊ में विधान भवन के सामने अनशन करने का ऐलान किया है। वह इस बात से आहत है कि आठ माह के आन्दोलन के बाद 23 अप्रेल को जिले के अधिकारियों ने सीधे सीएम से वार्ता कराने का आश्वासन दे उनका आमरण अनशन समाप्त करा दिया पर अपना वायदा पूरा करने की दिशा में किसी तरह की कोई पहल नही की।

गौरतलब है कि बुन्देली समाज के संयोजक तारा पाटकार ने आठ माह को अपने साथी अजय बरसैया आदि के साथ मुख्यालय में एम्स की स्थापना को लेकर सत्यागृह की शुरूआत की थी। कई माह तक धरना व उपवास के बाद भी प्रशासन व सरकार के कान में जूं नही रेगा तो प्रशासन व जनप्रतिनिधियों की बेरूखी से आजिज संयोजक तारा पाटकार ने 20 अपगेल को अपने आधा दर्जन साथियों के साथ आमरण अनशन शुय कर दिया। हालत बिगडने पर प्रशासन के अधिकारियों ने सभी अनशन कारियों को 12 मई की रात जबरन अनशन स्थल से उठाकर जिला चिकित्सालय में नजर कैद कर दिया। यहां पुलिस का इतना सख्त पहरा लगाया गया कि किसी भी व्यक्ति के अनशन कारियो के आसपास भटकने भी नही दिया गया। प्रशासन ने इस तरह दवाव बनाकर आन्दोलन कारियों को बैकफुट पर लाने के लिये मजबूर कर दिया।

अलबत्ता संगठन के संयोजक तारा पाटकार मुख्यमंत्री से सीधे वार्ता न होने तक किसी भी कीमत पर अनशन न तोडने पर अडिग रहे तो एसडीएम सदर प्रबुद्व कुमार ने एक सप्ताह के अन्दर मुख्यमंत्री से उनकी वार्ता कराने का आश्वासन दे किसही तरह मामला निपटाया। इस तरह 23 मई को आमरण अनशन समाप्त हो गया। इसके तीन सप्ताह पूरे होने के बाद भी अब तक प्रशासन ने मुख्यमंत्री से मिलाने की बात तो दूर अब तक इस दिशा में किसी तरह की कोई पहल भी नही कर सका। उधर जिले की इस अहम जन समस्या के मामले में स्थानीय जनप्रतिनिधियों का रवैया भी बेहद नकारात्मक रहा हैं। इससे आहत बुन्देली समाज के संयोजक तारा पाटकार ने आन्दोलन को गति देने के लिये अब लखनऊ में विधान भवन के सामने अनशन करने का ऐलान किया है। उन्होने बताया कि वह 25 मई को लखनऊ पहुंच जायेगे और 26 मई को प्रातः जिले में एम्स की स्थापना को लेकर उनका अनशन शुरू हो जायेगा।