?> बालिका में पोलियों के लक्षण से स्वास्थ्य विभाग में हडकम्प बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ श्रीनगर कस्बे के देवबाग मुहल्ले के रमिक महेश की साढे पांच साल की"/>

बालिका में पोलियों के लक्षण से स्वास्थ्य विभाग में हडकम्प

श्रीनगर कस्बे के देवबाग मुहल्ले के रमिक महेश की साढे पांच साल की बेटी सोनियां की हालत मंगलवार की सायं अचानक बिगड गई। उसका एक हाथ व पैर पूरी तरह शून्य हो गया। हडबडाये परिजन तुरन्त उसे उपचार के लिये जिला चिकित्सालय लाये। यहां बालिका में पोलियो के लक्षण देख चिकित्सा कर्मियों के होश उड गये। मामले की जानकारी सीएमएस व सीएमओ को दी गई। आनन फानन में स्वास्थ्य महकमे के तमाम जिम्मेदार अधिकारी जिला असप्ताल पहुंच गये। राष्ट्रीय स्तर पर पोलियों की सफलता के अभियान के बाद भी बच्ची में पोलियो के लक्षण पाये जाने से विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों में हडकम्प मचा हुआ है। सीएमओ कहते है अभी इसे पोलियो कहना ठीक नही डब्ल्यू एचओ से जांच कराई जायेगी। उसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

जानकारी के मुताबिक श्रीनगर कस्बे के देवबाग निवसी श्रमिक महेश के चार बच्चों मे तीसरे नम्बर की साढै पांच साल की बेटी सोनिया मंगलवार को अचानक बीमार हो गई। उसने परिजनों को बताया कि एकाएक घबराहट के साथ ही उसका बांया हाथ व पैर पूरी तरह शून्य हो गया है। बेटी की यह हालत देख सकते में आये परिजन उसे उपचार के लिये कस्बे के स्वास्थ्य केन्द्र ले गये। जहां चिकित्सकों ने उसे तुरन्त जिला अस्पताल भेज दिया। जिला चिकित्सालय के आपात चिकित्साकक्ष में रोगियों को देख रहे चिकित्सक व अन्य चिकित्सकों ने सोनिया का प्राथमिक परीक्षण किया तो उन्हें पसीना आ गया।

चिकित्सक को लगा कि बेटी के शरीर मे दिख रहे लक्षण पोलियो के है इस बात की इन्ट्री भी उसने आपात चिकित्सा कक्ष की चिकित्सा पुस्तिका में की है। इस बात की जानकारी तुरन्त सीएमएस उदयवीर सिंह व सीएमओ डाॅ एसके वाष्र्णेय को दी गई। चन्द ही पलों में स्वास्थ्य विभाग के तमाम जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंच गये। बालिका की हालत से उसे पोलियो होने की सम्भावना की खबर फैलते ही चिकित्सा विभाग में हडकम्प मच गया।

फिलहाल सोनिया को जिला अस्पताल के सघन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कर उसका उपचार शुरू कर दिया गया है। सीएमओ एसके वाष्र्णेय इसे पोलियो होने की स्म्भावना से इनकार नही करते पर बीच का रास्ता निकालते हुये कहते है कि डब्ल्यूएचओ की टीम बुलाई गई है। सम्भावना के मद्देनजर सोनिया के मल की जांच कराई जायेगी। इस रिपोर्ट में पोलियों के प्रकरण को पाये जाने के बाद भी कुछ कहना सम्भव होगा। उन्होने कहा कि फिलहाल इसे पोलियो कहना जल्दवाजी होगी।