मंगलवार की सायं कुलपहाड महोबा के बीच गेट नम्बर 416 के पास अचानक रे"/>

अचानक धंसी रेलवे लाईन टला बडा हादसा

मंगलवार की सायं कुलपहाड महोबा के बीच गेट नम्बर 416 के पास अचानक रेलवे लाईन धंस गई। पेसेन्जर के गुजरने के दौरान लाईन में भारी कम्पन देख यहां ड्यूटी में तैनात पीआरडी के जवानों ने इस बात की सूचना कुलपहाड स्टेशन अधीक्षक को दी तो विभागीय अधिकारियों में हडकम्प मच गया। खामी दूर करने के लिये तत्काल यहां से गुजरने वाली गाडियों को रोक दिया गया। बाद में पहुंचे अधिकारियों ने गैंग मैनों की सहायता से पटी में आई खामी दूर करा टेनों का संचालन बहाल कराया। इस बीच झांसी बांदा पेसेन्जर तीन घण्टे तक खडी रही।

विवरण में बताया गया है कि कुलपहाड व महोबा के बीच किमी संख्या 1245,9 पर ग्राम इंदौरा जाने वाली सडक पर बन रहे रेलवे अण्डर ब्रिज के ऊपर से गुजरी रेलवे लाईन मंगलवार की सायं अचानक धंस गई। रात कसीब नौ बजे झांसी बांदा पेसेन्जर यहां से गुजरी तो मौके पर तैनात पीआरडी के जवानों ने पटरी में भारी कम्पन व गाडी के डिब्बों को जम्प करते देखा तो जवान अशोक कुमार, धूराम व उमाशंकर ने इस बात की सूचना स्टेशन मास्टर सोम पाण्डेय को दी। स्टेशन अधीक्षक ने विभाग के उच्चाधिकारियों को घटना से अवगत कराया। उस पर मामले को गम्भीरता से लेते हुये तत्काल टेनों का आवागमन रोक दिया गया।

मामले की जानकारी होते ही कुछ ही देर में विभाग के तमाम अधिकारी रेलवे के गैंग मैनों की टीम के साथ मौकों पर पहुंच गये और पटरी में आई खामी को दूर कराया। इस गतिरोध के चलते 15808 नम्बर की बांदा झांसी पेसेन्जर तीन घण्टे तक खडी रही। रात के अंधेरे व जंगल में गाडी रोक देने से उसमें सवार मुसाफिरों को भारी परेशानियों का सामना करना पडा सैकडों रेल यात्री पीने के पानी के लिये भटकते नजर आये। कुलपहाड के स्टेशन अधीक्षक बताते है कि लाईन की चाभियां निकल जाने से पटरी ढीली हो गई थी। अचानक आई यह खामी दूर करा दी गई है। अब टेक में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नही है।



चर्चित खबरें