भारत निर्माण "/>

राजीव गांधी सेवा केन्द्र के भवन अधूरे राशि निकाल कर कागजो पर हो गये पूरे

भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र का निर्माण ऐसी ग्राम पंचायत के सपनो को पूरा करना था जहा पर कोई भवन नही है। इसकी लगभगत लगभग 14 लाख के आस-पास थी। भव का उदेष्य था की ग्राम पंचायत में सभी को वैठने,कार्यालय, एवं कोई भी मींिटंग हो तो सर्वसुविधायुक्त भवन हो । यदि कोई अधिकारी कर्मचारी ग्राम पंचायत में ठहरना चाहे तो सभी व्यावस्था हो ताकि ग्राम पंचायत का कार्य संचालन वेहतर हो ।

एक ऐसा वातावरण ग्रामीणो को मिले जहा पर किसी प्रकार का विध्न वाधा न हो । लेकिन यह सपना आज भी अधूरा है। कब पूरा होगा कोई वाताने को तैयार नही । ग्राम पंचायतो में जाकर देखे तो केन्द्र निर्माण में कई लाख रूप्ये व्यय भी हो चुके है लोग सामग्री का दुरूप्योग भी कर रहे कोई ईट निकाल रहा तो को छड़ ही काट रहा है। ऐसे में कुछ दिन यदि भवन नही वने तो इसकी नीव ही समाप्त हो जायेगी ।प्रषासन ने आग्रह है की इस भवन का निर्माण जल्द पूरा करा ताकि ग्राम पंचायत को एक सर्वसुविधायुक्त भवन मिल सके।



चर्चित खबरें