?> बेटियों की मांग के आगे झुकी खट्टर सरकार बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ हरियाणा में रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा गांव की बेटियों क"/>

बेटियों की मांग के आगे झुकी खट्टर सरकार

हरियाणा में रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा गांव की बेटियों की मांग को राज्य सरकार ने मान लिया है। सरकार ने  गोठड़ा टप्पा गांव के स्कूल को 12वीं तक करने का आदेश दिया है, लेकिन अनशन पर बैठी लड़कियों ने सरकार से लिखित में भरोसा मांगा है। लड़कियों की मांग है कि सरकार को कोई नुमाइंदा आए, तभी वो अनशन तोड़ेंगीं।

पिछले एक हफ्ते से भूखे-प्यासे अनशन पर बैठी हैं। गांव की लड़कियां जब पढने दूसरे गांव जाती हैं तो मनचले जीना मुश्किल कर देते हैं। इन लड़कियों की मांग है कि सरकार इन्हीं के गांव में बारहवीं तक स्कूल बना दे।

वहीं दूसरी तरफ हरियाणा के शिक्षा मंत्री ने छात्राओं के इस आंदोलन को राजनीति से प्रेरित करार दिया। शिक्षा मंत्री ने कहा कि वो इन छात्राओं से अपील करते हैं कि वह राजनीति के चक्कर में ना पड़ें। उन्होंने छात्राओं से अनशन तुरंत खत्म करने को कहा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूल अपग्रेडेशन का काम एक प्रोसेस के तहत होगा। हालांकि इस बीच हरियाणा सरकार ने स्कूल अपग्रेडेशन का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

रेवाड़ी के सरकारी स्कूल की छात्रा का कहना है, ‘’हम 10 मई से अनशन पर बैठे हैं, हमारी मांग है कि स्कूल 12वीं तक हो जाए. लेकिन इस ओर कोई नहीं ध्यान नहीं दे रहा है

छात्राओं का आरोप है कि चार किलोमीटर दूर जिस स्कूल में पढ़ने जाना पड़ता है उसके रास्ते में मनचले छेड़ते हैं. इन छात्राओं का कहना है कि जब तक शिक्षा मंत्री आकर आश्वासन नहीं देते ये अन्न नहीं खाएंगी। इसीलिए एबीपी न्यूज ने रोहतक में शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा से पूछा कि क्या आप रेवाड़ी तक जाकर इन बच्चियों का अनशन भी नहीं तुड़वा सकते हैं ?