?> छतरपुर को मिली एक और फॉरलेन की सौगात बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ अब लगता है छतरपुर के साथ-साथ पूरे बुन्देलखण्ड़ क्षेत्"/>

छतरपुर को मिली एक और फॉरलेन की सौगात

अब लगता है छतरपुर के साथ-साथ पूरे बुन्देलखण्ड़ क्षेत्र के दिन बदलने का समय नजदीक आ गया है। यदि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही छतरपुर फॉरलेन का चौराहा बनेगा और बुन्देलखण्ड़ क्षेत्र में सड़कों के मामले में छतरपुर अब्बल स्थान पर पहुंचेगा। अभी कुछ महीने पहले ही केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन जयराम गड़करी ने पहाडीबंधा से खजुराहो तक के लिये फॉरलेन सड़क का नौगांव में भूमि पूजन किया था।

इस सड़क का काम शुरू होने ही वाला है कि छतरपुर को एक और फॉरलेन की सौगात मिल गई है। यह दूसरा फॉरलेन सागर से कबरई तक 232.7 किलोमीटर लम्बा बनेगा और इस मार्ग को सागर, लखनउ इकोनोमिक कौरीडोर के नाम से जाना जायेगा। इस नये फॉरलेन के सर्वे का काम शुरू हो गया है

सागर, लखनउ कौरीडोर बुन्देलखण्ड़ के विकास के लिये लाईफ लाईन सड़क होगी। छतरपुर कलेक्टर रमेश भण्डारी ने आज ही इस नये प्रोजेक्ट के तहत् जमीन अधिग्रहण की स्वीकृति नेशनल हाइवे अर्थोटी ऑफ इंडिया को दे दी है। इस नये फॉरलेन के सर्वे का काम यूआरएस स्कोर्ट बिल्सन काम की कम्पनी को दिया गया है। इस कम्पनी का मुख्यालय गुडगांव में है यह कम्पनी पिछले कई दिनों से सर्वे का काम कर रही थी और अब भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही की स्वीकृति भी कलेक्टर रमेश भण्डारी ने दे दी है। सूत्र बताते हैं कि इस सड़क निर्माण के लिये स्थानीय जनप्रतिनिधियों के अलावा कलेक्टर रमेश भण्डारी ने भी विशेष प्रयास किये हैं।

इस सड़क के निर्माण की सबसे बडी खासियत यह है कि इसके डीपीआर में छतरपुर सहित एक दर्जन से भी अधिक कस्बों में बाईपास मार्ग भी बनाये जायेंगें। सागर से कबरई तक निर्मित होने वाली इस फॉरलेन सड़क में छतरपुर के अलावा बण्डा, शाहगढ़, बड़ामलहरा, गुलगंज, गढ़ीमलहरा और उजरा में भी बाईपास मार्ग बनाये जाना प्रस्तावित है।



चर्चित खबरें