website statistics
पड रही भीषण गर्मी के बीच कस्बा के नही गांवो के भी नल जव"/>

सुबह होते ही पानी के लिये भटकना पड रहा कस्वावासियो को

पड रही भीषण गर्मी के बीच कस्बा के नही गांवो के भी नल जवाव दे चुके है। जिस कारण लोगों को पीने के पानी के लिये भारी मशक्कतें करनी पड रही है। लोगों को एक एक किमी दूर जाकर पानी लाना पड रहा है। गर्मियों के इस मौसम में छोटे छोटे मासूमों को भी पानी भरने के लिये परिजनों के साथ जाना पड रहा है। कस्बा के सारे तालाब सूख चुके है। नगर पंचायत इक्का दुक्का कस्बों में कभी कभार टेंकर भिजवा देती है। जिससे कस्वावासियों में जमकर रोश पनप रहा है।

गौरतलब है कि कस्बा कबरई पहाडी इलाका होने के कारण वहां गर्मी के मौसम में पानी की समस्या विकराल हो जाती है। गर्मी में यहां लगे हेण्डपम्प तथा बोर जवाव दे जाते है। जिस कारण कस्बावासियों को पानी के लिये दर दर की ठोकरें खानी पडती है। नगर पंचायत इक्का दुक्का मुहालों में कभी कभार ही टेंकर भिजवाती है जिस कारण कस्बावासियों में भारी रोश पनप रहा है। कस्वावासी सुबह से ही पानी के लिये जद्दोजहद करने लगते है।

वह पूरे परिवार के साथ कामकाज छोड पहले पानी भरने में जुट जाते है। पाने के पानी के लिये छोटे छोटै मासूमों को भी बडी मशक्कत करनी पडती है। कस्बावासियों का कहना है कि कबरई के बघवा तालाब को भूमाफियाओं के चुंगल से अगल करवा साफ सफाई करवाई जाये। जिससे तालाब में पानीरहे सके। तालाब में जानवरों तक को पीने के लिये पानी नही है तथा सरकार द्वारा लाखों की लागत से बनवाई गई चरही भी पूरी तरह जवाव दे चुकी है।

जिससे जानवरों को भी पीने के पानी के लिये दर दर की ठोकरें खानी पड रही है। कस्बा क्षेत्र में पानी की समस्या केवल इसी वर्ष नही अपितु प्रतिवर्ष की हैं फिर भी विभागीय अधिकारी इस ओर से आंखें मूदें हुये है। कई बार शिकायतें करने के बाद भी विभागीय अधिकारी इस तरफ कोई ध्यान नही दे रहे है। जिससे कस्बावासियो में जमकर रोश पनप रहा है।

 



चर्चित खबरें