?> अंत्योदय मेला-प्रदर्शनी की तिथियां तय बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ मुख्य विकास अधिकारी ए. दिनेश कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में पं द"/>

अंत्योदय मेला-प्रदर्शनी की तिथियां तय

मुख्य विकास अधिकारी ए. दिनेश कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में पं दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष मनाये जाने के संबंध में अधिकारियो के साथ बैठक की। जिसमे अधिशाषी अभियंता लघु सिचाई, जल निगम, सहायक निदेशक मत्स्य, दुग्ध विकास अधिकारी, प्रभागीय वनाधिकरी, जिला पूर्ति अधिकारी, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी, जिला बेसिक अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, भूमि संरक्षण अधिकारी, डीसी मनरेगा, जिला विकलांग जन विकास अधिकारी के बैठक मंे अनुपस्थित रहने पर जिला विकास अधिकारी को स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। इस बारे में जिलाधिकारी को भी अवगत कराने को कहा।

उन्होने बताया कि पं दीनदयाल उपाध्याय की जन्म शताब्दी एक मई से 25 सितम्बर के मध्य मनाया जाना है। जनपद व लाक स्तर में अन्त्योदय मेेला एवं प्रदर्शनी के आयोजन के लिये समिति का गठन कर लिया गया है। 15 से 17 अगस्त तक तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया जायेगा। विकास खण्ड चित्रकूट धाम कर्वी मे 15 सेे 17 जून तक, पहाडी में 15 से 17 जुलाई, मऊ में 20 से 22 जुलाई, रामनगर में 20 से 22 अगस्त एवं मानिकपुर ब्लाक में 15 से 17 सितम्बर तक अन्त्योदय प्रदर्शनी के आयोजन होंगे। उन्होने कहा कि जनपद स्तर के विभागीय अधिकारियो को निर्देश दिये कि अपने-अपने विभागो की केन्द्र व राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी एवं सुविधायंे जनसामान्य को स्टाल लगाकर दें।

ताकि समाज के दलित, निर्धन, शोषित एवं उपेक्षित वर्ग योजनायो का लाभ प्राप्त कर सके। उन्होने अधिकारियो से कहा कि अपने-अपने विभागो की कार्य योजना बनाकर दो दिन के अन्दर उपलब्ध करायें। जनपद स्तरीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी तथा विकासखण्ड प्रदर्शनी का मूल्याकंन कर श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विकासखण्डो को प्रोत्साहित करने की योजना है। जिसमे शासन से प्रदेश के तीन सर्वश्रेष्ठ जनपदो का करते हुये संबंधित जिलाधिकारी एवं जिला स्तरीय अधिकारी को पुरस्कृत किया जायेगा। इसी प्रकार प्रत्येक जनपद मे सर्वश्रेष्ठ आयोजन करने वाले एक विकासखण्ड को भी पुरस्कृत किया जायेगा।

मुख्य विकास अधिकारी ने यह भी बताया कि 20 मई को जिला योजना की बैठक आयोजित की गई है। जिसमें जिन विभागों के प्रस्ताव में जिलाधिकारी द्वारा धनराशि संशोधित की गई है। संबंधित अधिकारी अपनी कार्य योजना में उसे प्रस्तावित कर 18 मई तक हरहाल में जिला अर्थ एवं संख्याघिकारी को उपलब्ध करा दें। बैठक मे जिला विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, उप निदेशक कृषि, परियोजना निदेशक आदि अधिकारी उपस्थित रहे।



चर्चित खबरें