?> आधुनिक कृषि तकनीकी का किसान उठायें लाभ: जगदीश बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ कृषि सूचना तंत्र के सुदृढीकरण योजना 2017-18 के अंतर्गत वि"/>

आधुनिक कृषि तकनीकी का किसान उठायें लाभ: जगदीश

कृषि सूचना तंत्र के सुदृढीकरण योजना 2017-18 के अंतर्गत विकासखण्ड स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं किसान मेले का आयोजन किया गया। उद्घाटन ब्लाक प्रमुख चन्द्रशेखर ने किया। उन्होंने कहा कि जो भी तकनीकी जानकारी वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों ने बतायी है उसका प्रयोग कर कृषि उत्पादन किसान बढ़ायें। जिससे आर्थिक ढांचा मजबूत होने के साथ देश आत्मनिर्भर बनेगा।

उप कृषि निदेशक जगदीश नारायण ने गोष्ठी को संबोधित करते हुये कृषि विभाग में चलने वाली कृषि यंत्रीकरण, आत्मा योजना, मूप योजना, नेशनल फूउ सिक्युरिटी मिशन आदि योजनाओं की जानकारी दी। बताया कि योजना के लागू होते ही कृषकों को तत्काल लाभ दिया जायेगा। उन्होंने कृषक पंजीकरण मृदा परीक्षण में प्रधानमंत्री मृदा स्वास्थ्य कार्ड, संतुलित मात्रा में उर्वरकों के प्रयोग करने एवं जैविक रासायनों के उपयोग पर बल दिया।

फसलों के अवशेष को नहीं जलाने के लिये कहा गया। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा बबेले ने पशु बीमा, पशुओं में होने वाली बीमारी खुरपका, मुंहपका से नियंत्रण के लिये टीकाकरण कराने एवं गर्मी में स्वच्छ पानी पीने की व्यवस्था करने के साथ ही अन्य बीमारियों एवं रोकथाम की जानकारी दी। जिला उद्यान अधिकारी राकेश कुमार ने कहा कि गर्मी में बोयी गई सब्जियों में लगने वाली बीमारियों व कीट नियंत्रण के तरीके बताये। प्रगतिशील किसान श्रवण कुमार ने सिस्टम आफ राइस श्री पद्धति से धान उत्पादन की विस्तृत जानकारी दी। जैन इरीगेशन जलगांव महाराष्ट्र के शिवकुमार सिंह ने सोलर पम्प के महत्व देय अनुदान एवं स्थापना को बताया।

सीनियर एग्रोनोमिस्ट वरीत कुमार ने ग्रिप इरीगेशन के स्थापना, महत्व एवं समुचित पानी के उपयोग की जानकारी दी। इसी क्रम में रमेश कुशवाहा सहायक विकास अधिकारी कृषि रक्षा, आनन्द सेन कनिष्ठ शोध सहायक आदि ने मृदा नमूने लेने की विधि, मृदा स्वास्थ्य कार्ड एवं उर्वरक उपयोग दक्षता के संबंध में बताया। भूमि संरक्षण अधिकारी बृजेश सिंह ने जल संरक्षण, मृदा संरक्षण एवं खेत तालाब योजना पर प्रकाश डाला। गोष्ठी में बुद्धप्रकाश पाण्डेय, राजेन्द्र, अरुण कुमार, हरिनारायण द्विवेदी, देवेन्द्र तिवारी, यतेन्द्र, सीताराम, सतीश आदि की सराहनीय भागीदारी रही।