132 केवी उपकेंद्र से अतर्रा तक नई लाइन पड़ने के कारण जिला अस्पताल स"/>

जिला अस्पताल की घंटो गुल रही बिजली

132 केवी उपकेंद्र से अतर्रा तक नई लाइन पड़ने के कारण जिला अस्पताल सहित दर्जन भर गांवों की बिजली घंटे तक बाधित रही। बिजली गुल होने से लोगों का हाल बेहाल रहा। सबसे ज्यादा परेशानी जिला अस्पातल में मरीजों को उठानी पड़ी। बिजली न होने से बर्न वार्ड में गर्मी से कराहते रहे।

जिले में पुरानी जर्जर लाइनों को बदलकर प्लास्टिक कोटेड लाइन डालने का काम किया जा रहा है। इसी प्रक्रिया के तहत ट्रांसमिशन शक्तिकेंद्र से अतर्रा तक नई लाइन डाली जा रही है। इसको देखते हुए शुक्रवार सात बजे जिला अस्पताल और पचनेही फीडर की बिजली काट दी गई। जिसके बाद कर्मचारियों ने काम शुरू किया।

अगले फीडर तक तार पहुंचाने में करीब सात घंटे का समय लग गया। दोपहर दो बजे दोबारा इन दोनों फीडरों की लाइन बहाल हो सकी। बिजली न आने से जिला अस्पताल में मरीजों का हाल बेहाल रहा। तीमारदार अपने मरीजों को पंखे डुला कर राहत देने की कोशिश में जुटे दिखे।

अस्पताल में जनरेटर की व्यवस्था होने के बावजूद अधिकारियों ने उसे चालू कराना मुनासिब नहीं समझा। उधर बिजली न आने से पचनेही, महोखर, बरगहनी, गोखरही, कुरेसजा, जारी, जौरही समेत दर्जनभर गांवों में बिजली गुल रही। गर्मी के कारण ग्रामीणों का हाल बेहाल रहा। उपखंड अधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया कि नई लाइन पड़ने के कारण शटडाउन लिया गया था।



चर्चित खबरें